ताज़ा खबर :
prev next

यूपी के 3 जिलों में कोरोना वॉरियर्स से बदसलूकी:हमीरपुर के जिस गांव में 15 मौतें, वहां ग्रामीणों ने हेल्थ टीम को धमकाया, औरेया में महिलाएं लाठी लेकर निकलीं

पढ़िए  दैनिक भास्कर की ये खबर

फोटो औरैया के कादलपुर गांव की है, यहां पहुंची स्वास्थ्य विभाग को खदेड़ने महिलाएं लाठी लेकर निकल पड़ीं।

  • ललितपुर में कोरोना मरीजों को खाना खिला रहे समाजसेवियों को दबंगों ने पीटा

यूपी के गांवों में कोरोना भयावह तरीके से फैल चुका है। देर से ही सही, सरकार ने अब गांवों पर कुछ हद तक ध्यान देना शुरू किया है। हेल्थ टीमें गांवों में जाने लगी हैं। लेकिन गांव वाले सेहत की फ्रिक छोड़कर हेल्थ टीम पर ही हमला करने में लग गए हैं। रविवार को राज्य के तीन अलग-अलग जिलों में गांव वालों ने हेल्थ वर्कर्स और समाजसेवियों के साथ मारपीट की।

पहला मामला: हमीरपुर में पुलिस की निगरानी में हुई जांच

हमीरपुर जिले के भटपुरा गांव में बुखार से अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है। उसके बाद भी ग्रामीण कोरोना की जांच कराने को तैयार नहीं हैं। हेल्थ टीम जब गांव के लोगों की कोरोना टेस्ट करने पहुंची तो ग्रामीणों ने उन पर हमला कर दिया। हेल्थ टीम ने किसी तरह भागकर जान बचा पाई। बाद में पुलिस के पहुंचने पर टीम ने 35 लोगों की जांच की, इसमें से एक व्यक्ति पॉजिटिव मिला है।

दूसरा मामला: ललितपुर में दबंगों ने किया हमला

दूसरा, मामला ललितपुर जिले में सामने आया है। यहां एक ढाबे पर खाना खाने रुके कोरोना मरीजों की सेवा में लगे पांच समाजसेवियों को दबंगों ने रंगदारी देने से इंकार करने पर जमकर पीटा। उन पर ढाबा कर्मचारियों के साथ मिलकर लोहे की रॉड से हमला कर दिया।

वहीं, मौके पर पहुंची डायल 112 पुलिस की पुलिस बचाने की जगह वीडियो बनाती रही। पुलिस ने इस मामले में 5 पांच दबंगों सहित अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर लिया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

फोटो ललितपुर की है कोरोना मरीजों की सेवा में लगे समाजसेवियों को दंबगों ने पीटा है।

दबंगों की धमकी- बिना पैसे दिए नहीं चलेगी एंबुलेंस

ललितपुर निवासी अंकुर जैन समाजसेवी हैं। उनकी अपनी एक संस्था भी है। इस कोरोना काल में वे और उनके साथी कोरोना मरीजों को अस्पताल और घरों तक पहुंचाने के लिए निशुल्क एंबुलेंस चला रहे हैं। शुक्रवार की रात वह लोग तालबेहट से लौट रहे थे। रास्ते में हाइवे किनारे ग्राम तेरई फाटक स्थित ढाबे पर खाना खाने रुके, तभी धमकाना गांव निवासी दबंग तिलक यादव, धीरज यादव, सोहन यादव, रंजीत और चाली वहां आए। धमकाया कि यहां एंबुलेंस चलानी होगी तो हमें पैसे देने पड़ेंगे।

तीसरा मामला:औरेया में टीम को लाठी लेकर मारने दौड़े

चेहरे पर मास्क नहीं, हाथों में लाठी-डंडे हैं। बड़े तो बड़े बच्चों के हाथ में भी लाठियां हैं। यह नजारा किसी जंग का नहीं बल्कि औरैया के कादलपुर गांव में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को डराते हुए लोगों की हैं। अफवाहों से घिरे गांव वालों से जब आशा बहु ने वैक्सीन लगवाने की अपील की तो क्या बड़े क्या बच्चे सभी हाथों में लाठियां लेकर निकल आये। महिला स्वास्थ्यकर्मी को भद्दी भद्दी गलियां तक दी। कुछ लोगों ने तो मारने के लिए लाठियां भी तान दी। बहरहाल, रविवार को स्वास्थ्यकर्मी गांव से बिना वैक्सीनेशन किए हुए लौट आये।

चौथा मामला: फतेहपुर में हेल्थ वर्कर्स के साथ नोकझोंक

ऐसा ही एक मामला फतेहपुर जिले में आया है, जहां यमुना कटरी में हेल्थ वर्कर्स एक महिला के घर जाकर उसे वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित कर रही है, लेकिन महिला वैक्सीन नहीं लगवाने की बात कहकर स्वास्थ्य कर्मियों से नोकझोक करती नजर आ रही है। इसका एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *