ताज़ा खबर :
prev next

सोने में निवेश का शानदार मौका! सोमवार से मिलेगा इतना सस्ता सोना, सरकार शुरू कर रही है ये स्कीम

पढ़िए  न्यूज़18 की ये खबर

अगर आप सोने में निवेश (Gold Investment) करने की सोच रहे हैं तो अगले सप्ताह आपके पास शानदार मौका आने वाला है. जहां आप सस्ते में सोना (Gold Price) खरीद सकेंगे. दरअसल, सरकार सस्ती दरों पर सोना खरीदने का एक और मौका दे रही है.

नई दिल्ली. अगर आप सोने में निवेश (Gold Investment) करने की सोच रहे हैं तो अगले सप्ताह आपके पास शानदार मौका आने वाला है. जहां आप सस्ते में सोना (Gold Price) खरीद सकेंगे. दरअसल, सरकार सस्ती दरों पर सोना खरीदने का एक और मौका दे रही है. निवेशक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) योजना के तहत बाजार मूल्य से काफी कम दाम में सोना खरीद सकते हैं. यह योजना एक बार फिर पांच दिन (24 मई से 28 मई तक) के लिए खुलेगी. बता दें कि इसमें पहली किश्त 17 मई से 21 मई तक सब्सक्रिप्शन के लिए खुली थी और अब दूसरी किश्त के लिए भी सरकार ने प्राइस तय कर दिया है. यानी दूसरी किश्त का सोमवार (24 May 2021) को पहला दिन है.

इतना तय किया गया है प्राइस-

सोवरेन गोल्ड बांड (Sovereign Gold Bond Scheme FY21) की दूसरी किश्त के लिए 4,842 रुपये प्रति ग्राम मूल्य तय किया गया है और यह 24 मई से 28 मई के बीच खुलेगा. बता दें कि पहली किश्त के लिए सब्सक्रिप्शन मूल्य 4,777 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया था. गोल्ड बांड को ऑनलाइन खरीदने पर प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट मिलेगी.

कम से कम कितना करें निवेश-

निवेशकों के लिए निवेश का यह सुनहरा मौका है. भारत में सोने के निवेश विकल्पों में सोवरेन गोल्ड बांड सबसे बेहतर माना जाता है और इसे केंद्र सरकार के बिहाफ पर RBI जारी करती है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में एक वित्त वर्ष में एक व्यक्ति अधिकतम 4 किग्रा सोने के बॉन्ड खरीद सकता है. वहीं न्यूनतम निवेश एक ग्राम का होना जरूरी है.

यहां से खरीद सकते हैं गोल्ड बॉन्ड-

गोल्ड बॉन्ड को ऑनलाइन खरीद सकते हैं. इसके अलावा इसकी बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), चुनिंदा डाकघरों और एनएसई व बीएसई जैसे स्टॉक एक्सचेंज के जरिए भी होगी. स्माल फाइनेंस बैंक और पेमेंट बैंक में इनकी बिक्री नहीं होती है.

जानें कितना फायदेमंद है गोल्ड बॉन्ड-

<< मेच्योरिटी पर यह टैक्स फ्री होता है.

<< भारत सरकार द्वारा समर्थित होने से डिफॉल्ट का खतरा नहीं होता है.

<< फिजिकल गोल्ड की बजाए गोल्ड बांड को मैनेज करना आसान और सेफ होता है.

<< इसमें प्योरिटी का कोई झंझट नहीं होता और कीमतें सबसे शुद्ध सोने के आधार पर तय होती हैं.

<< इसमें एग्जिट के आसान विकल्प हैं.

<< गोल्ड बांड के अगेंस्ट लोन की सुविधा मिलती है. साभार- न्यूज़18

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *