ताज़ा खबर :
prev next

UP के गोंडा में बड़ा हादसा:सिलेंडर में ब्लास्ट के बाद ढहे 2 मकान, 4 बच्चों समेत 8 की मौत, 6 घायलों को बचाया गया

पढ़िये  दैनिक भास्कर की ये खबर

उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में मंगलवार देर रात बड़ा हादसा हो गया। यहां वजीरगंज क्षेत्र के टिकरी गांव में सिलेंडर में ब्लास्ट से दो मकान जमींदोज हो गए। इनके मलबे में 14 लोग दब गए। जिन्हें पुलिस ने गांव वालों की मदद से बाहर निकाला। लेकिन तब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी थी। वहीं एक ने अस्पताल में दम तोड़ा। इनमें दो पुरुष, दो महिलाएं और 4 बच्चे हैं। 6 गंभीर रूप से घायल हैं। उन्हें जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जाहिर किया है। उन्होंने अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य पूरा करने के निर्देश दिए। साथ ही घटना की उच्चस्तरीय जांच के भी आदेश दिए हैं।

ब्लास्ट से ढहे दोनों मकान सटे हुए थे
बताया जा रहा है कि टिकरी गांव निवासी नुरुल हसन के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस था। मंगलवार की रात करीब 11 बजे के आसपास उनके घर में विस्फोट हुआ। यह इतना तेज था कि नुरुल हसन मकान तो ढहा ही, बाजू वाला मकान भी जमींदोज हो गया। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची इसके बाद जेसीबी और पोकलेन मशीनों से मलबा हटाया गया।

धमाका इतना तेज था कि दो मंजिला मकान पूरी तरह से ध्वस्त हो गया। इससे सटा हुआ एक और मकान जमींदोज हो गया।

नया सिलेंडर लिया था, यानी वह पूरा भरा था
हादसे में घायल मोहम्मद हकीम ने बताया कि रात 11 बजे के आसपास खाना बन रहा था, तभी गैस सिलेंडर में विस्फोट हुआ। गैस सिलेंडर हाल ही में खरीदकर लाया गया था। इससे दो मंजिला मकान ढह गया। पड़ोसी का भी मकान गिरा है। इसके बाद क्या हुआ, मुझे नहीं मालूम।

जेसीबी से मलबा हटाने का काम जारी है। आशंका है कि कुछ और लोग भी दबे हो सकते हैं।

आईजी कर रहे कैंप, फॉरेंसिक टीम की जांच जारी
आईजी राकेश सिंह, एसपी संतोष कुमार मिश्र मौके पर कैंप कर रहे हैं। विस्फोट के कारणों का पता लगाने के लिए फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है। एसपी ने बताया कि सिलेंडर विस्फोट से छत गिरना बताया जा रहा है। अभी हमारी प्राथमिकता राहत व बचाव कार्य की है। जो भी तथ्य सामने आते हैं, उस हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल घटना की बारीकी से जांच की जा रही है।

जिला अस्पताल में बच्चे का इलाज करता मेडिकल स्टाफ।

सगे भाइयों समेत 8 की मौत
इस हादसे में नुरुल हसन का बेटा निसार (35 साल), शमशाद (28 साल), बेटी रुबान बानो (32 साल) और निसार अहमद की पत्नी सायरुननिशा (35 साल), बेटी नूरी सबा (12 साल) और इरशाद का बेटा मेराज (11 साल), मोहम्मद आरिफ का बेटा मोहम्मद शोएब (02 साल) और निसार के बेटे शहवाज (14 साल) की अस्पताल में मौत हुई है। साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!