ताज़ा खबर :
prev next

प्रयागराज के डॉक्‍टरों पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाने वाली युवती की मौत, सामूहिक दुष्‍कर्म का केस दर्ज

पढ़िये  दैनिक जागरण की ये खबर….

प्रयागराज के एसआरएन अस्‍पताल के डाक्टरों ने मीरजापुर की युवती की आंत का आपरेशन 31 मई की रात में किया था। होश में आने के बाद युवती ने डाक्टरों पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। युवती की मौत के बाद सामूहिक दुष्‍कर्म का केस दर्ज हुआ है।

प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज में स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल (एसआरएन) के कतिपय डॉक्टर पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती की मौत के बाद आखिरकार पुलिस बैकफुट पर आ गई। मंगलवार को युवती की मौत सुबह हुई तो पुलिस और प्रशासन में खलबली मच गई। इसके बाद आनन-फानन में दोपहर में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज किया। कोतवाली थाने के कार्यवाहक थानाध्यक्ष अंजनी कुमार ने बताया कि रिपोर्ट लिखकर जांच शुरू कर दी गई है।

एक तो डाक्टरों की कारगुजारी, ऊपर से पुलिस की निष्क्रियता के चलते एक युवती आखिर न्याय पाने की आस मन में लिए ही चल बसी। स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय (एसआरएन) में मीरजापुर निवासी युवती ने डाक्टरों पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। उसके बयान और तीमारदारों के लाख प्रयास के बावजूद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। वहीं मंगलवार की सुबह युवती की मौत हो गई।

युवती को 29 मई को एसआरएन अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था

मीरजापुर निवासी युवती को 29 मई को एसआरएन अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। उसके पेट की आंत का आपरेशन होना था। भर्ती कराए जाने के समय उसकी हालत काफी गंभीर थी। डाक्टरों ने 31 मई की रात आपरेशन किया था। होश में आने के बाद युवती ने डाक्टरों पर यौन शोषण का आरोप लगाया। इससे अस्पताल के डाक्टरों में खलबली मच गई थी।

पांच डॉक्‍टराें के दल ने जांच के बाद आरोप झूठा बताया था

युवती के आरोप के बाद मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल डा. एसपी सिंह ने पांच डाक्टरों के दल से प्रशासनिक जांच कराई थी। वहीं सीएमओ डा. प्रभाकर राय ने युवती का दो डाक्टरों के पैनल से मेडिकल परीक्षण कराया था। इन दोनों ही जांच में आरोप झूठा पाया गया।

रिपोर्ट दर्ज कराने का प्रयास नाकाम

युवती के बयान के आधार पर पुलिस में डाक्टरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के लिए सपा नेता और इविवि की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह आंदोलित रहीं लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। वहीं अस्पताल के जूनियर डाक्टरों ने भी सोमवार को युवती के तीमारदारों से परेशान होकर और डाक्टरों के खिलाफ बन रहे माहौल के मद्देनजर विरोध प्रदर्शन किया था।

युवती का होगा पोस्टमार्टम

एसआरएन में युवती की हुई मौत के बाद उसके शव का पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया गया है। देर शाम पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ सकेगी। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *