ताज़ा खबर :
prev next

एंटीलिया और मनसुख मर्डर केस:पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा को हिरासत में लेकर NIA कर रही पूछताछ, सचिन वझे के गुरू माने जाते हैं शर्मा

पढ़िए  दैनिक भास्कर की ये खबर…

एंटीलिया और मनसुख मर्डर केस में बुधवार को नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने पूर्व ACP एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा को हिरासत में ले लिया है। शर्मा के घर पर बुधवार सुबह रेड हुई है और उनसे घर पर ही पूछताछ हो रही है। NIA जानना चाहती है कि प्रदीप शर्मा, बर्खास्त किए गए API सचिन वझे और पूर्व कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे शर्मा के संपर्क में थे या नहीं। इसी से जुड़े मनसुख हिरेन की हत्या के केस में अरेस्ट किया गया पूर्व कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे भी शर्मा का करीबी रहा है।

शिवसेना के टिकट पर चुनाव लड़ चुके शर्मा ठाणे की एंटी एक्सटॉर्शन सेल में रह चुके हैं। 90 के दशक में उन्हें मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम में शामिल किया गया था। इस टीम को अंडरवर्ल्ड के सफाए का जिम्मा सौंपा गया था। यहीं से शर्मा एनकाउंटर स्पेशलिस्ट बने।

4 सवालों के जवाब से समझिए गुरू-चेलों और केस का कनेक्शन

1. शर्मा NIA के रडार पर क्यों आए?
सूत्रों के मुताबिक, NIA के पास प्रदीप शर्मा और सचिन वझे की एक मीटिंग की जानकारी है। जांच के दौरान एजेंसी को पता चला कि मनसुख के मर्डर से कुछ दिन पहले वझे ने अंधेरी इलाके में एक व्यक्ति से मुलाकात की। प्रदीप शर्मा भी इसी इलाके में रहते हैं। शक है कि मीटिंग वझे और शर्मा के बीच हुई। एक CCTV फुटेज में वझे और शिंदे बांद्रा वर्ली सी लिंक पर कार में बैठे दिखाई दिए। एजेंसी का मानना है कि ये दोनों अंधेरी में शर्मा से मिलने ही जा रहे थे। मनसुख को जिस नंबर से कॉल कर बुलाया गया, उसका आखिरी लोकेशन भी अंधेरी का जेबी नगर था। NIA ने वझे को साथ लेकर 3 अप्रैल की रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक अंधेरी में कई इलाकों में छापे भी मारे थे।

2. NIA शर्मा से क्या जानना चाहती है?
NIA जानना चाहती है कि शर्मा ने आखिरी बार वझे से मुलाकात कब की? क्या शर्मा के नौकरी छोड़ने के बाद भी वझे उनके संपर्क में था? क्या शर्मा की वझे और शिंदे के साथ मीटिंग हुई? क्या वझे और शिंदे ने शर्मा से मनसुख हिरेन के बारे में कोई बात कही थी?

3. वझे और शर्मा का क्या कनेक्शन है?
2007 में जब वझे को सस्पेंड किया गया था, उसके बाद उसने शिवसेना ज्वाइन की थी। माना जाता है शर्मा की शिवसेना में एंट्री करवाने वाला वझे ही थे। हालांकि, शिवसेना की ओर से यह लगातार कहा जाता रहा कि 2008 के बाद उन्होंने वझे की सदस्यता को रिन्यू नहीं किया था। प्रदीप शर्मा को ही वझे का गुरू कहा जाता है। वे खुद नालासपोरा विधानसभा से शिवसेना के टिकट पर 2019 में चुनाव लड़ चुके हैं।

4. शर्मा के कितने करीब है विनायक शिंदे?
उधर, शिंदे 10 साल तक उसी एनकाउंटर टीम का हिस्सा रहा, जिसमें शर्मा भी थे। छोटा राजन के गुर्गे लखन भैया का फर्जी एनकाउंटर करने का आरोप शर्मा, शिंदे समेत पूरी टीम पर लगा था। आरोप था कि मुंबई के बिल्डर जनार्दन भांडे से पैसा लेने के बाद लखन का एनकाउंटर किया गया। शर्मा को सस्पेंड भी किया गया था, लेकिन बाद में वे कोर्ट से बरी हो गए थे। विनायक इसी मामले में गिरफ्तार किया गया था। वह परोल पर बाहर आया था और इसी दौरान मनसुख मर्डर केस सामने आया।

35 साल पुलिस महकमे में रहे शर्मा
उत्तर प्रदेश में जन्मे और धुले (महाराष्ट्र) में आकर बसे प्रदीप शर्मा ने 35 साल की पुलिस सर्विस में 112 एनकाउंटर किए। 100 से ज्यादा एनकाउंटर करने वाले वे देश के पहले पुलिसकर्मी हैं। 2019 में उन्होंने महाराष्ट्र पुलिस विभाग छोड़ दिया। इसके बाद 2019 में चुनाव लड़ा। वे अपना NGO पीएस फाउंडेशन चलाते हैं। साभार-दैनिक भास्कर

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *