ताज़ा खबर :
prev next

खतरनाक मतांतरण : मुरादनगर के बाद मोदीनगर में भी सामने आया मतांतरण का मामला

पढ़िए  दैनिक जागरण की ये खबर…

मोदीनगर मुरादनगर में दो किशोरियों का मतांतरण कराकर उनकी शादी 50 साल से भी ज्यादा उम्र के व्यक्तियों से करा दी गई। पूरा मामला जानकारी में होने के बाद भी पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज होने के आठ माह बाद कार्रवाई की। अब ऐसा ही मामला मोदीनगर के सीकरी गांव में सामने आया है। यहां दो सप्ताह से लापता किशोरी के मामले में पुलिस कार्रवाई करने को तैयार नहीं है।

मोदीनगर: मुरादनगर में दो किशोरियों का मतांतरण कराकर उनकी शादी 50 साल से भी ज्यादा उम्र के व्यक्तियों से करा दी गई। पूरा मामला जानकारी में होने के बाद भी पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज होने के आठ माह बाद कार्रवाई की। अब ऐसा ही मामला मोदीनगर के सीकरी गांव में सामने आया है। यहां दो सप्ताह से लापता किशोरी के मामले में पुलिस कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। जबकि उसकी मां लगातार पुलिस को किशोरी का मतांतरण कराने वाले गिरोह के बारे में जानकारी दे रही है। पुख्ता सबूत भी महिला के पास हैं।

पुलिस की इस सुस्ती के कारण मोदीनगर व मुरादनगर क्षेत्र में लगातार मतांतरण कराने वाला गिरोह अपने पैर पसार रहा है। उनके निशाने पर आर्थिक रूप से कमजोर परिवार रहते हैं, जो 10 से 16 साल की उम्र की किशोरियों को प्रलोभन देकर अपने साथ ले जाते हैं। एक, दो सप्ताह उनको सुरक्षित स्थान पर रखते हैं। वहां उनको दिमागी रूप से तैयार किया जाता है। इसके बाद उनकी शादी ऐसे लोगों से कराई जाती है, जिनकी या तो शादी नहीं होती या फिर उनकी उम्र 50 साल से भी ज्यादा हो चुकी है। इनकी जाति और धर्म भी किशोरियों से अलग हैं। शादी कराने के बदले आरोपित दो से तीन लाख रुपये इन लोगों से वसूलते हैं। यह बात खुद मुरादनगर में पकड़े गए गिरोह ने कबूली हैं। बरामद हुई किशोरियों ने बताया था कि शादी कराने के कुछ दिन तक सब ठीक रहा। इसके बाद आरोपित उनका उत्पीड़न करने लगे। ये था मुरादनगर का मामला: असालतनगर से अक्टूबर 2020 को दो किशोरियां लापता हुई थीं। मामले में पीड़ित पक्ष ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पीड़ित परिवार को दो किशोरियों के बेचे जाने की जानकारी लगी तो उन्होंने पुलिस को भी इस बारे में बताया, लेकिन पुलिस ने समय रहते इसमें ठोस कदम नहीं उठाया। बार बार गुहार के बाद 25 जून को पुलिस ने संदेह के आधार पर ब्रजविहार कालोनी में रहने वाली सोनू नाम की महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरा मामला उजागर हो गया। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने राजीव, राम सागर, रामबहादुर को गिरफ्तार कर किशोरियों को सकुशल बरामद किया। किशोरियों ने आरोपितों के बारे में चौंकाने वाले तथ्य बताए। कई अन्य लोगों के नाम भी उजागर हुए, लेकिन पुलिस कार्रवाई की बजाय खामोश बैठ गई।

लगातार लापता हो रहीं किशोरियां करीब दो सप्ताह पहले निवाड़ी के गांव खिदौड़ा, पतला से चार किशोरियां लापता हुई थीं। मुरादनगर से पिछले एक सप्ताह में तीन किशोरियां, भोजपुर में दो व मोदीनगर में पांच किशोरी लापता हुई हैं। चारों थानों में औसतन रोजाना एक किशोरी लापता हो रही है। अधिकांश मामलों में पुलिस ढिलाई बरतती है।

हो चुका है पूरा थाना लाइनहाजिर मोदीनगर थाना क्षेत्र में करीब चार साल पहले किशोरी को अगवा कर उसकी हत्या कर दी गई। इस मामले में एसएचओ समेत पूरा थाना लाइनहाजिर हो गया था। करीब तीन साल पहले 14 साल की किशोरी को अगवा कर उसकी हत्या की गई। उसका शव परतापुर में मिला था। इस मामले में चौकी इंचार्ज, एसएचओ, सीओ को हटाया गया था।

वर्जन.. किशोरियों के लापता होने के मामले में पुलिस कोई लापरवाही नहीं बरत रही है। लापता होने वालीं ज्यादातर किशोरियों को पुलिस ने बरामद किया हैं। यदि कोई ऐसा मामला है, जिसमें कार्रवाई नहीं हुई है तो इसकी समीक्षा कर कार्रवाई होगी।

-सुनील कुमार सिंह, सीओ, मोदीनगर- साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!