ताज़ा खबर :
prev next

पंजाब में कॉन्ट्रैक्ट मैरिज का खतरनाक ट्रेंड:विदेश में बसाने के नाम पर 3600 दुल्हनों ने 5 साल में लड़के वालों से 150 करोड़ ठगे, विदेश जाकर मुकर जाती थीं

पढ़िए दैनिक भास्कर की ये खबर…

विदेश में बसने की चाहत रखने वाले 3,600 पंजाबी लड़के फर्जी शादियों का शिकार होकर अब तक 150 करोड़ रुपए गवां चुके हैं। ऐसी 3,300 से ज्यादा शिकायतें विदेश मंत्रालय में सामने आ चुकी हैं। इसमें से 3,000 पंजाब से जुड़ी हुई हैं। पिछले 6 महीने में विभाग के पास धोखाधड़ी के 200 मामले सामने आ चुके हैं।

पंजाब में कॉन्ट्रैक्ट मैरिज कर विदेश जाने की चाहत रखने वाले युवाओं की संख्या बढ़ती जा रही है। हर दिन औसतन 2 लड़के इस चाहत की वजह से ठगे जा रहे हैं। ऐसे मामलों में लड़के वाले, लड़की और उनके पैरेंट्स पर धोखाधड़ी का केस करते हैं, लेकिन इनमें से बहुत कम केस ही हल हो पाते हैं।

विदेश जाकर पलट जाती हैं लड़कियां
इन युवाओं के घरवाले ने अपने बेटे को विदेश में सेटल कराने के लिए आईलेट्स (इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट सिस्टम) पास युवतियों से शादी करवाई। वीजा, इंस्टीट्यूशन फीस और सिक्योरिटी मनी मिलाकर 40 लाख रुपए तक खर्च किए, लेकिन विदेश जाकर युवतियां मुकर गईं और लड़कों को बुलाने से इनकार कर दिया।

विदेश पहुंचते ही लड़कियां अपना नाम-पता तक बदल देती हैं। एक और बात जो चौंकाने वाली सामने आई है, वह यह है कि विदेश जाने के चक्कर में सिर्फ आम लोग ही नहीं बल्कि पुलिस, इंजीनियर और सरकारी मुलाजिमों के बेटे भी शिकार हुए हैं।

विदेश जाने के लिए लाखों रुपए खर्च किए, लेकिन विदेश जाने के बाद पत्नी ने शादी को ड्राम बता दिया।
विदेश जाने के लिए लाखों रुपए खर्च किए, लेकिन विदेश जाने के बाद पत्नी ने शादी को ड्राम बता दिया।

बड़े परिवारों के लड़कों को फंसाया जाता है

  • गांव में एजेंट कम पढ़े-लिखे परिवारों को बताते हैं कि वह ऐसी लड़की को जानते हैं, जो आईलेट्स पास है, लेकिन उसकी स्टडी, वीजा आदि का खर्च देना होगा।
  • 3 महीने में लुधियाना में 30, जालंधर में 70 मामले कॉन्ट्रैक्ट मैरिज के बाद धोखे के दर्ज हुए हैं। पंजाब में 6 माह में ही 300 मामले आए हैं।

इस तरह आसान लगता है विदेश जाना

स्पाउस वीजा: लड़कियों के सहारे स्पाउस वीजा पर विदेश जाया जा सकता है। लड़की के आईलेट्स में 7 बैंड होते हैं। इसके जरिए लड़के को विदेश में सेटल करना आसान होता है।

ग्रीन कार्ड: न्यूजीलैंड बड़ी तादाद में पंजाबी लड़कियां स्टूडेंट हैं। इनके पास ग्रीन कार्ड है। इनसे शादी करने के लिए लड़कों की लाइन लगी रहती है। पंजाब में कुछ एजेंट डील करवाते हैं।

लुटेरी दुल्हनों की 5 कहानियां

1. जालंधर के SI रघुवीर सिंह बेटे गुरविंदर सिंह की शादी परनीत से हुई। लड़की के विदेश जाने का खर्च एसआई के परिवार ने उठाया। 23 लाख खर्च कर बहू को विदेश भेजने के बाद उसने फोन उठाना ही बंद कर दिया और बाद में तलाक मांगने लगी।

2. संगरूर जिले के गांव फलेड़ा के गुरजीवन सिंह की शादी 22 दिसंबर 2019 को ठिंडा के गांव नाथपुरा की रहने वाली प्रभजोत कौर के साथ हुई। उसे कनाडा भेजने में गुरजीवन ने 30.41 लाख रुपए खर्च किए, लेकिन कनाडा जाने के बाद प्रभजोत ने गुरजीवन को बुलाने से इनकार कर दिया।

3. फतेहगढ़ साहिब जिले के मंडी गोविंदगढ़ मनजीत सिंह के बेटे की शादी खमाणों की रहने वाली किरण से हुई। उसे कनाडा भेजने में 13 लाख रुपए मनजीत ने खर्च किए और कनाडा जाने के बाद उसने कहा कि ये शादी एक ड्रामा थी।

4. मोगा के भूपिंदर सिंह की शादी पवनदीप कौर से हुई। 30 लाख रुपए खर्च कर उसे कनाडा भेजा गया। उसके इनकार करने के बाद भूपिंदर मानसिक तौर पर बीमार हो गया और उसके इलाज पर 40 हजार रुपए खर्च हुए।

5. 25 लाख खर्च किए, कनाडा पहुंचने के बाद 10 लाख और मांगे

जालंधर के गोराया का निवासी मनदीप सिंह कनाडा सेटल होना चाहता था। गांव ढड्‌डा के तीर्थ सिंह की आईलेट्स पास बेटी प्रदीप कौर से 9 सितंबर 2019 को कॉन्ट्रैक्ट मैरिज हुई। 25 लाख खर्च हुए। फिर प्रदीप कौर कनाडा चली गई और वहां से 10 लाख रुपए और मांगे।

पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की वकील दलजीत कौर का एक्सपर्ट व्यू

डिपोर्ट करने का नियम बने, ताकि सख्त कार्रवाई हो

पंजाब में हर दिन कान्ट्रैक्ट मैरिज में धोखाधाड़ी होने की शिकायतें आ रही हैं। ऐसे मामलों में पुलिस धोखाधड़ी का केस दर्ज कर आगे कार्रवाई नहीं कर पाती, क्योंकि आरोपी विदेश में सेटल हो जाती हैं। ऐसे आराेपियों को डिपोर्ट करने का नियम बने, ताकि सख्त कार्रवाई हो।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *