ताज़ा खबर :
prev next

पत्नी की जिद पर थाने के मंदिर में सिपाही से दोबारा कराई शादी, जानिए- क्या है पूरा मामला

पढ़िए दैनिक जागरण की ये खबर…

एटा जिले के जलेसर में यूपी 112 में तैनात सिपाही की पत्नी ने एसपी से शिकायत की थी। इसपर एसपी के निर्देश के बाद थाने के मंदिर में युवती की सिपाही पति से हिंदू रीति-रिवाज से शादी कराते हुए जयमाल डलवाया गया।

औरैया, जेएनएन। दिबियापुर थाना स्थित मंदिर में सिपाही की उसकी पत्नी से दोबारा शादी कराई गई और दोनों ने एक दूसरे को जयमाल भी डाला। पत्नी ने एसपी को शिकायत प्रार्थना पत्र देकर शादी कराने की गुहार लगाई थी। उसका कहना था कि वह पहले हुई शादी को नहीं मानती है, उसका विवाह हिंदू रीति-रिवाज से कराया जाए। इसपर दोनों को थाना बुलाकर विवाह के बाद वरमाला डलवाकर शादी की रस्म पूरी कराई गई।

पुलिस कर्मी बृजेंद्र कानपुर देहात के अमराहट थाना क्षेत्र करियापुर गांव निवासी है और जलेसर (जिला एटा ) में यूपी 112 में तैनात है। रविवार को बृजेंद्र ने दिबियापुर थाना क्षेत्र के असेनी गांव निवासी संगीता के गले में जयमाला डालकर दोबारा शादी की रस्मों को पूरा किया। उप निरीक्षक शंभू दयाल ने बताया महिला को एक बच्चा है व उसके पहले पति की सड़क हादसे में मौत हो चुकी है। फफूंद रेलवे स्टेशन पर करीब ढाई साल पहले सिपाही से उसकी मुलाकात हुई थी। वह एक-दूसरे के घर आने जाने लगे। इसके बाद उन्होंने शादी भी कर ली थी और साथ रहने लगे थे। महिला इस शादी को नहीं मान रही थी और हिंदू रीति रिवाज से विवाह करने की बात पर अड़ी थी।

महिला ने एसपी अपर्णा गौतम को कुछ दिन पहले शिकायती पत्र दिया था, जांच के आधार पर दोनों को बुलाया गया। पूछताछ में सिपाही ने कहा उसकी डेढ़ वर्ष पूर्व महिला से शादी हो चुकी है, लेकिन वह इस बात को नहीं मान रही। थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों के समझाने पर दोनों दोबारा जलमाला डलवाने के लिए राजी हुए। इस दौरान महिला के ताऊ सुभाष व सिपाही की मां उमा देवी भी मौजूद थी। सिपाही व महिला जयमाल डालने के बाद खुश नजर आए। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!