ताज़ा खबर :
prev next

Driving License के नियम में बड़ा बदलाव! DL के लिए अब इन राज्यों में Online मेडिकल सर्टिफिकेट ही होंगे मान्य!

पढ़िये न्यूज़18 की ये खास खबर….

Driving License News: अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए डॉक्टरों (Doctors) के द्वारा भेजे गए ऑनलाइन मेडिकल प्रमाणपत्र (Online Medical Certificate) ही मान्य होंगे. छत्तीसगढ़ परिवहन विभाग ने इसको लेकर आदेश भी जारी कर दिया है. यूपी, एमपी, झारखंड, बिहार, राजस्थान और दिल्ली में भी यह नियम लागू हो सकते हैं.

नई दिल्ली. केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of Road Transport and Highways) ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) और इससे जुड़ी सभी सेवाओं (Services) को ऑनलाइन (Online) करने की दिशा में लगातार प्रयासरत है. कोरोना काल (Covid-19) में ट्रांसपोर्ट विभाग (Transport Department) की ज्यादातर सेवाएं ऑनलाइन शुरू की जा चुकी हैं. इसी कड़ी में कुछ राज्यों ने अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए डॉक्टरों (Doctors) के द्वारा भेजे गए ऑनलाइन मेडिकल प्रमाणपत्र (Medical Certificate) को ही मान्य कर दिया है. छत्तीसगढ़ परिवहन विभाग ने इसको लेकर आदेश भी जारी कर दिया है. इस आदेश में ऑफलाइन जमा किए जाने वाले प्रमाणपत्र पर रोक लगाने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही अधिकृत डॉक्टरों द्वारा ऑनलाइन जारी किए जाने वाले प्रमाणपत्रों के आधार पर ही ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने कहा गया है.

अब मेडिकल सर्टिफिकेट भी ऑनलाइन ही जमा होंगे!
बता दें कि देश के हर आरटीओ (RTO) के कामकाज को तकरीबन अब ऑनलाइन कर दिया गया है. परिवहन विभाग कोशिश कर रहा है कि लाइसेंस रिन्युअल, डुप्लीकेट लाइसेंस, एड्रेस चेंज और आरसी (RC) बनवाने के लिए लोगों को अब आना न पड़े. घर बैठे ही लोगों को ये डॉक्यूमेंट्स अपलोड करने की सुविधा मिले. ऑनलाइन सिस्टम के बाद सिर्फ ड्राइविंग टेस्ट और फिटनेस के लिए ही लोगों को आरटीओ आना होगा.

देश के परिवहन कार्यलयों में एजेंट द्वारा फजीवाड़ा करने की शिकायतें लगातार मिल रही हैं. आवेदनकर्ता या एजेंट नकली सील और हस्ताक्षर कर दस्तावेज जमा कर रहे थे. इसे देखते हुए अब परिवहन विभाग की तरफ से सख्ती से और इस पर रोक लगाई गई है.

छत्तीसगढ़ के बाद इन राज्यों ने शुरू किया विचार
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के बाद अब यूपी, एमपी, झारखंड, बिहार, राजस्थान और दिल्ली जैसे राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने भी ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए डॉक्टरों के द्वारा भेजे गए ऑनलाइन मेडिकल प्रमाणपत्र को ही मान्य करने पर विचार कर रही है. इसके साथ ही लर्निंग लाइसेंस और गाड़ियों के पंजीयन के लिए नए नियमों को लागू कर दिया है. वहीं, कुछ राज्यों में अब सिर्फ ऑनलाइन ही आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं. धीरे-धीरे यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन ही हो जाएगी.

देश के परिवहन कार्यलयों में एजेंट द्वारा फजीवाड़ा करने की शिकायतें लगातार मिल रही हैं.

लॉकडाउन के बाद और नए साल की शुरुआत के साथ ही ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना अब आसान होता जा रहा है. देश की तकरीबन सभी राज्यों की परिवहन विभाग ने लर्निंग लाइसेंस के लिए फीस जमा करने की व्यवस्था में बदलाव कर दिया है. अब नई व्यवस्था के तहत स्लॉट बुक होते ही लर्निंग लाइसेंस के लिए पैसे जमा करना पड़ रहा है. पैसे जमा करते ही जांच परीक्षा के लिए तारीख भी अपनी सुविधा के मुताबिक मिल रहा है. साभार- न्यूज़18

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स मेंलिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!