ताज़ा खबर :
prev next

Noida Circle Rate 2021: पढ़िये- दिल्ली से सटे नोएडा में 100 फीसद तक प्रॉपर्टी के महंगे हो जाने का सच

पढ़िये दैनिक जागरण की ये खास खबर….

Noida Circle Rate 2021 प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री कराने वाले लोगों को सर्किल रेट के साथ लोकेशन का भी अतिरिक्त चार्ज देना होगा। ऐसे में सबसे महंगी प्रापर्टी अब नोएडा के ए-प्लस श्रेणी में शामिल सेक्टरों की होगी।

नई दिल्ली/नोएडा। सर्किल रेट में बढ़ोतरी होने के कारण दिल्ली से सटे नोएडा शहर के कई सेक्टरों में संपत्तियों के सर्किल रेट में 60 फीसद तक की बढ़ोतरी हो जाएगी। यह बिल्कुल सच है और आगामी 16 अगस्त से इसका असर भी देखने को मिल सकता है। इसके अलावा, ए-प्लस श्रेणी में शामिल किए गए सेक्टरों में प्रापर्टी के सर्किल रेट 90 फीसद तक बढ़ जाएंगे। ऐसे में नोएडा में प्रापर्टी खरीदना और उसकी रजिस्ट्री कराना पहले के मुकाबले काफी महंगा हो गया है। हालांकि सर्किल रेट की प्रस्तावित दरों पर अभी मुहर नहीं लगी है, लेकिन संपत्तियों की कीमतों में बढ़ोतरी होना तय माना जा रहा है। प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री कराने वाले लोगों को सर्किल रेट के साथ लोकेशन का भी अतिरिक्त चार्ज देना होगा। ऐसे में सबसे महंगी प्रापर्टी अब नोएडा के ए-प्लस श्रेणी में शामिल सेक्टरों की होगी। इन सेक्टरों में लोकेशन चार्ज जोड़े जाने के बाद रजिस्ट्री के लिए सर्किल रेट की दर में करीब दो गुना इजाफा हो जाएगा। वहीं एक्सप्रेस-वे और मेट्रो रूट के सेक्टरों में भी प्रापर्टी के सर्किल रेट करीब 60 फीसद तक बढ़ जाएगी।

इन सेक्टरों में बदली श्रेणी

एडीएम फाइनेंस वंदिता श्रीवास्तव ने बताया कि नोएडा प्राधिकरण द्वारा आवासीय भूखंड की श्रेणी एक से सेक्टर-14ए, 15ए, 44 के ए और बी ब्लॉक को ए प्लस व सेक्टर-19, 47, 93ए, 93बी को बी श्रेणी से बदलकर श्रेणी ए में बदल दिया गया है। इसी प्रकार सेक्टर-11, 12, 22, 70, 71, 72,73, 74, 75, 76, 77, 78 को श्रेणी सी से उच्चकृत करके बी श्रेणी में तब्दील कर दिया गया है। सेक्टर-63-ए को श्रेणी डी से हटाकर अब श्रेणी सी में रखा गया है। इन सेक्टरों की मूल्यांकन सूची में उच्चीकृत श्रेणी के अनुसार ही सर्किल रेट की दर प्रस्तावित की जा रही है।

इन लोकेशन के लिए देना होगा अतिरिक्त मूल्य

अगर आवासीय भूखंड के सामने पार्क या ग्रीन बेल्ट है तो भूखंड की दर में पांच फीसद वृद्धि का प्रस्ताव है।

मेट्रो रूट या मेट्रो स्टेशन के पास लोकेशन चार्ज के रूप में सेक्टर की दर पांच प्रतिशत अधिक प्रस्तावित है।

एक्सप्रेस-वे के दायीं और बायीं ओर वाले आवासीय भूखंडों पर यह दर साढ़े सात प्रतिशत होगी। किसी आवासीय भूखंड के पास मेट्रो स्टेशन और एक्सप्रेस-वे दोनों हैं तो ऐसी स्थिति में भूखंड की दर में 12.5 प्रतिशत का इजाफा प्रस्तावित किया गया है।

जिला प्रशासन ने सर्किल रेट में बढ़ोतरी किए जाने का प्रस्ताव जारी कर दिया गया है। इस पर आमजन तथा संस्थाओं से उनके विचार-आपत्तियां मांगी गई हैं। इस पर शहर की सबसे पुराने औद्योगिक संगठन नोएडा एंटरप्रिनियोर्स एसोसिएशन ने कड़ी आपत्ति जता जिलाधिकारी सुहास एलवाई को पत्र लिखा है।

एसोसिएशन अध्यक्ष विपिन कुमार मल्हन ने कहा है कि नोएडा में पहले ही आवंटन दर से सर्किल रेट अधिक हैं। इसलिए सर्किल रेट में 20 से 25 फीसद की कमी की जाए। विगत वर्ष से अभी तक लोग कोरोना के संकट काल से उभर नही पाए हैं। लोगों के मन में कोरोना की तीसरी लहर का भय व्याप्त है। ऐसे समय में सर्किल रेट बढ़ाने का कोई औचित्य नजर नहीं आता।

उधर प्रोग्रेसिव कम्युनिटी फाउंडेशन गौतमबुद्ध नगर सर्किल रेट में प्रस्तावित वृद्धि का विरोध किया है। अमित गुप्ता, सुशील कुमार जैन, विष्णु सैनी ने जिलाधिकारी को लिखा है कि सेक्टरों में श्रेणियों में किए गए बदलाव से भार बढ़ेगा और मेट्रो के आसपास आने वाले क्षेत्र में तकरीबन 12.5 फीसद का अतिरिक्त चार्ज लगेगा। कोरोना महामारी के दौरान लोगों की आय कम हो चुकी है और पहले से ही लाखों फ्लैट की रजिस्ट्री रुकी हुई है उन लोगों के साथ यह बिल्कुल अनुचित होगा। इतना ही नहीं कितने लोगों का रोजगार चला गया। साभार-दैनिक जागरण

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!