ताज़ा खबर :
prev next

Deshbhakti Curriculum: अब दिल्ली के स्कूलों में होगी देशभक्ति की पढ़ाई, सीएम ने लॉन्‍च क‍िया पाठ्यक्रम

पढ़िये न्यूज़18 की ये खास खबर….

Deshbhakti Curriculum: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आज देशभक्ति पाठ्यक्रम को हरी झंडी देते हुए कहा कि हमने पिछले 70 सालों में सारे विषय पढ़ाएं, लेकिन देशभक्ति नहीं पढ़ाई. अब दिल्ली के स्कूलों में देशभक्ति की पढ़ाई होगी. भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर अब हम हर दिन आजादी की भावना का जश्न मनाने के लिए खुद को प्रतिबद्ध करें.

नई दिल्ली. दिल्ली में सरकारी स्कूलों (Government Schools) के बच्चे अब देशभक्ति (Patriotism) से ओतप्रोत होंगे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आज देशभक्ति पाठ्यक्रम (Deshbhakti Curriculum)को हरी झंडी देते हुए कहा कि हमने पिछले 70 सालों में सारे विषय पढ़ाएं, लेकिन देशभक्ति नहीं पढ़ाई. अब दिल्ली के स्कूलों में देशभक्ति की पढ़ाई होगी. भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर अब हम हर दिन आजादी की भावना का जश्न मनाने के लिए खुद को प्रतिबद्ध करें.

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस का जश्न अब प्रतीकात्मक नहीं, बल्कि वास्तविक होगा. पायलट के समय हमने काफी सीखा और समय के साथ आगे भी सीखेंगे, और लगातार इसमें सुधार करते रहेंगे. वहीं, डिप्टी सीएम एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि हम ‘देश प्रेम’ के मूल्यों को दैनिक जीवन के साथ जोड़ना चाहते हैं. यही देशभक्ति पाठ्यक्रम का सार है. आजादी की 75वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या से देशभक्ति दिल्ली सरकार के स्कूलों में टीचिंग-लर्निंग का मूल आधार बनेगी.

इससे पहले, डिप्टी सीएम सिसोदिया के नेतृत्व में शिक्षा निदेशालय व एससीईआरटी के वरिष्ठ अधिकारियों और शिक्षकों की टीम ने आज मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की और सरकारी स्कूलों में देशभक्ति पाठ्यक्रम के कार्यांवयन पर चर्चा की.

इस दौरान CM केजरीवाल ने कहा कि दो साल पहले जब हमने शुरुआत की थी, तो तब पता नहीं था यह कैसा होगा और कैसे होगा? यह डायनेमिक और रिवॉल्विंग प्रक्रिया है. इसके पायलट के समय हमने काफी सीखा है और समय के साथ आगे भी सीखेंगे और लगातार इसमें सुधार करते रहेंगे.

इसी के साथ यह भी लगातार देखना है कि बच्चों के अंदर कितनी तेजी हम कर पा रहे हैं, उसको निष्पक्ष रूप से मूल्यांकन करना भी महत्वपूर्ण है. इसलिए हमें मूल्यांकन पर भी ध्यान देना होगा. एक प्रक्रिया के तहत इसका ध्यान रखना होगा कि निष्पक्ष रूप से मूल्यांकन हो. सीएम ने पूरी टीम को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी लोगों ने बहुत ही शानदार काम किया है. पिछले 70 साल में हम लोगों ने केमिट्री पढ़ाई, मैथ पढ़ाई और फिजिक्स भी पढ़ाई, लेकिन देशभक्ति नहीं पढ़ाई, लेकिन अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में देशभक्ति की पढ़ाई होगी.

देशभक्ति करिकुलम फ्रेमवर्क मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा साझा किए गए तीन प्राथमिक लक्ष्यों पर आधारित है जो इस प्रकार हैं-

1- छात्रों में अपने देश के प्रति गर्व की भावना पैदा करना.
2- देश के प्रति जिम्मेदारियों के बारे में जागरूकता पैदा करना.
3- देश के लिए बलिदान देने की प्रतिबद्धता.

साभार- न्यूज़18

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!