ताज़ा खबर :
prev next

Delhi Meerut expressway- मेरठ से दिल्‍ली जाने-आने वालों को 30 अगस्‍त से मिलेगी राहत, जानें कैसे

पढ़िये न्यूज़18 की ये खास खबर….

Ministry of Road Transport: मेरठ, हापुड़ से रोजाना दिल्‍ली आने-जाने वाले वाहन चालकों को 30 अगस्‍त से राहत मिल जाएगी. चिपयाना, आरओबी तैयार कर लिया जाएगा. जिससे यहां पर लोगों को जाम में नहीं फंसना पड़ेगा.

गाजियाबाद. मेरठ, हापुड़ से दिल्‍ली आने जाने वाले हजारों लोगों को 30 अगस्‍त से राहत मिल जाएगी. रोजाना आवगामन में लोगों का समय की बचेगा. उन्‍हें चिपयाना के पास जाम में नहीं फसंना पड़ेगा. दिल्‍ली मेरठ एक्‍सप्रेस वे (Delhi Meerut Express Way) से तय समय पर अपने गंतव्‍य पर पहुंच सकेंगे. 30 अगस्‍त तक यहां पर आरओबी (रेलवे ओवर  ब्रिज) का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा. नेशनल इाईवे अथारिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India-NHAI) आरओबी (ROB) के लि‍ए डेडलाइन तय कर दी है, अधिकारियों का कहना है कि इस बार समय सीमा बढ़ने नहीं दी जाएगी.

एनएचएआई (NHAI) ने अप्रेल में दिल्‍ली मेरठ एक्‍सप्रेस वे (Delhi Meerut Express Way) को यातयात के लिए खोल दिया है. लेकिन उस समय रेलवे से ब्‍लाक न मिलने की वजह से चिपयाना आरओबी तैयार नहीं हो पाया. लेकिन बाद  में इसका काम तेजी से शुरू किया गया. हालांकि एबीएसई कॉलेज की तरफ आरओबी का काम की दो डेडलाइन कोरोना की वजह से मिस हो चुकी हैं. लेकिन इस बार एनएचएआई के अधिकारियों का कहना है कि समय पर काम पूरा करेंगे. इस आरओबी के बनने से एक्सप्रेसवे से होकर दिल्‍ली जाने वाले लोगों को जाम से छुटकारा मिल जाएगा. अभी तक रोजाना दिल्ली, नोएडा, मेरठ व हापुड़ रूट पर जाने वाले लोगों को जाम से जूझना पड़ता है. खासकर सुबह और शाम के वक्त सबसे ज्यादा जाम लगता है. इन सभी लोगों को राहत मिल जाएगी.

इस संबंध में एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर मुदित गर्ग ने बताया कि चिपियाना गांव की तरफ बन रहे आरओबी का काम लगभग पूरा हो गया है. निर्माण कार्य अंतिम दौर पर चल रहा है.  20 अगस्त के बाद लोड टेस्ट होगा. उसके बाद 30 अगस्त तक आरओबी यातायात के लिए खोल दिया जाएगा

अभी तक एक्सप्रेसवे का सारा ट्रैफिक एनएच-9 के दो पुराने आरओबी से गुजर रहा है, जिस पर दो लेन आने और दो लेन जाने वालों के लिए हैं. अब एक्सप्रेसवे पर करीब एक लाख पीसीयू (पैसेंजर पर कार यूनिट) का दबाव है. यानी 24 घंटे में 100000 वाहन गुजरते हैं. जबकि पुराने दो आरओबी 40000 पीसीयू की क्षमता है. वाहनों का दबाव अधिक होने से जाम लगा रहता है. दूसरे आरओबी निर्माण के चलते ट्रैफिक को थोड़ा डायवर्ट किया गया है, जिससे ट्रैफिक की गति धीमी होती है।

अगले वर्ष मार्च तक 14 लेन का पूरा होगा एक्‍सप्रेस वे

14 लेन के दिल्‍ली मेरठ एक्सप्रेसवे के लिए चिपियाना में 10 लेन के दो नए आरओबी बनाए जा रहे हैं. इनमें एक छह लेन आरओबी का काम अंतिम दौर में है. 4 लेन के लिए पिलर बन गए हैं, ऊपर के हिस्से में काम रेलवे की स्वीकृति के बाद शुरू होगा. इस आरओबी को अगले वर्ष मार्च 2022 तक तैयार किया जाना है. दो नए आरओबी के बनने 14 लेन यातायात के लिए शुरू हो जाएगा. साभार- न्यूज़18

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

मारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!