ताज़ा खबर :
prev next

डासना मंदिर के महंत ने मुस्लिम बच्चे पर लगाया रेकी का आरोप, पुलिस ने झुठलाया

गाजियाबाद। डासना मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती ने रविवार को एक मुस्लिम बच्चे को पकड़कर स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया। उनका दावा है कि यह​ बच्चा मंदिर में रेकी करने आया था। हालाँकि पुलिस ने इन आरोपों को गलत बताया है।

यति नरसिंहानंद सरस्वती ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो में खुद महंत मौजूद हैं और उनके बराबर में एक लड़का पुलिस के साथ खड़ा हुआ है। यति के अनुसार, ये मुसलमान लड़का है। जिस समय मैं यज्ञ करके उठा हूं, यह मंदिर की रैकी करने के लिए आया। मैंने इसे पुलिसवालों को दे दिया है। मैं यहां के एसएसपी समेत सभी अधिकारियों को बताना चाहता हूं कि ये हमले की तैयारी है। यह यहां पर रैकी करने के लिए आया है। यह बड़ी घटना की तैयारी है। मैं योगीजी तक संदेश भेजना चाहता हूं कि यह मेरी हत्या का प्रयास है। यह लड़का मंदिर में अंदर तक आ गया।

वहीं गाजियाबाद पुलिस ने बयान जारी करते हुए कहा है कि महंत के द्वारा ट्विटर पर अनस के संबंध में अपलोड की गई वीडियो की जांच हुई है। जांच में पाया गया कि अनस सैफी मसूरी थाना क्षेत्र में उस्मान कॉलोनी डासना का रहने वाला है। उसकी उम्र करीब 10 साल है। वह अभी गर्भवती भाभी मोमीना के साथ मंदिर के नजदीक डासना सीएचसी में आया था।

इस दौरान मंदिर में काफी श्रद्धालु आ रहे थे। उन्हीं के पीछे वह अस्पताल का गेट समझकर मंदिर परिसर में घुस गया। पुलिस की जांच में अनस के परिजन अस्पताल में भर्ती पाए गए। बच्चे के पास से कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली है। पुलिस का कहना है कि बच्चे की आयु कम है, इसलिए उसे भौगोलिक स्थिति की जानकारी नहीं थी।

गाजियाबाद पुलिस के इस बयान पर यति नरसिंहानंद ने असंतोष जाहिर किया है। उन्होंने लिखा है, “डासना के इसी कस्बे मे बीएस तोमर की हत्या भी नाबालिग बच्चो ने ही की थी। ये कभी प्यासे होते हैं। कभी भटके हुए और कभी मौका मिलने पर नरेशानंद जी जैसे संतो को सोते हुए में चाकू से गोद जाते हैं। फिर हमारी पुलिस खामोश, क्योंकि घटना होने के बाद इनके पास बताने के लिए कोई कहानी नही होती।”

यति नरसिंहानंद सरस्वती का विवादों से पुराना नाता रहा है। मार्च 2021 में आसिफ नाम के एक मुस्लिम लड़के को नरसिंहानंद और उसके साथी ने मंदिर में पकड़ लिया था जिसकी पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इस घटना के बाद नरसिंहानंद की हत्या का एलान करते कई वीडियो सामने आए। जून 2021 में मंदिर परिसर में कथित तौर पर पुजारी की हत्या करने आए दो अन्य लोगों को पकड़ा गया था। नरसिंहानंद पर हाल ही के एक वायरल वीडियो में महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने का केस दर्ज किया गया था।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!