ताज़ा खबर :
prev next

बांग्लादेश: इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हिन्दू, दुर्गा पूजा में मूर्तियां तोड़ीं, 3 की मौत

ढाका। बांग्लादेश में हिंदुओं के साथ अमानवीय व्यवहार एक बार फिर से खुलकर सामने आ गया है। यहां दुर्गापूजा के दौरान हिंदू मंदिरों में इस कदर तोड़फोड़ की गई कि दंगे भड़क गए। इस दंगे में तीन लोगों के मारे जाने और कई लोगों के घायल होने की खबर है। फिलहाल स्थिति को कंट्रोल करने के लिए बांग्लादेश सरकार ने 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती कर दी है।

चांदपुर जिले में चरमपंथियों की भीड़ ने फेसबुक पर अफवाह फैलने के बाद हिंदू मंदिर पर हमला कर दिया। रिपोर्ट के मुताबिक, चांदपुर के हाजीगंज, चत्तोरग्राम के बांसखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में भी मंदिरों के अंदर तोड़फोड़ की घटनाएं दर्ज की गईं। ढाका ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, स्थिति नियंत्रण से बाहर चली गई और एक के बाद एक कई दुर्गा पूजा स्थलों पर दंगे भड़कने लगे। डेली स्टार की खबर के मुताबिक, दंगों में कम से कम तीन लोग मारे गए हैं और कई लोग घायल हो गए हैं। ये तीन मौतें चांदपुर के हाजीगंज इलाके में पुलिस और भीड़ के बीच हुई झड़प के दौरान हुईं।

बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने ट्वीट करके कहा, “13 अक्टूबर 2021, बांग्लादेश के इतिहास का निंदनीय दिन है। अष्टमी के दिन मूर्ति विसर्जन के मौके पर कई पूजा मंडपों में तोड़फोड़ हुई है। हिंदुओं को अब पूजा मंडपों की रखवाली करनी पड़ रही है। आज पूरी दुनिया चुप है। मां दुर्गा अपना आशीर्वाद सभी हिंदुओं पर बनाए रखें। कभी माफी न दें।”

बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से मांग की है कि हिंदुओं को सुरक्षा मुहैया कराई जाए। काउंसिल ने ट्वीट करके कहा कि अगर बांग्लादेश के मुसलमान नहीं चाहते तो हिंदू पूजा नहीं करेंगे, लेकिन कम से कम हिंदुओं को तो बचा लीजिए। हमला अभी भी जारी है। प्लीज आर्मी भेजिए। हम पूजा मंडपों में बांग्लादेश की सेना चाहते हैं।

काउंसिल ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि पिछले 24 घंटों में क्या हुआ है, इसे हम ट्वीट में प्रकाशित नहीं कर सकते। बांग्लादेश के हिंदुओं ने कुछ लोगों के असली चेहरे देखे। हम नहीं जानते कि भविष्य में क्या होगा, लेकिन बांग्लादेश के हिंदू 2021 की दुर्गा पूजा को कभी नहीं भूलेंगे।

काउंसिल ने बुधवार को ट्वीट कर बताया कि कुरान के अपमान की अफवाहें फैल रही हैं। इसके कारण नानुआ दिघी पार के पूजा मंडल पर हमला हुआ है। हम सभी मुस्लिम भाइयों से कहना चाहते हैं कि अफवाहों पर विश्वास न करें। हम कुरान का सम्मान करते हैं। कोई दंगा भड़काने की साजिश कर रहा है। कुरान और दुर्गा पूजा का कोई संबंध नहीं है। निष्पक्ष जांच होगी। कृपया किसी हिंदू या मंदिर पर हमला न करें।

बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने ट्वीट किया, “अच्छे मुसलमान अभी भी बांग्लादेश में जिंदा हैं, तो हम भी जिंदा हैं। उन सभी मुसलमानों को धन्यवाद जो हिंदुओं के साथ खड़े रहे। हम इस्लाम का भी सम्मान करते हैं। हम भी कुरान से प्यार करते हैं। इस्लाम कभी इसका समर्थन नहीं करता। हम बांग्लादेश में अपने मुस्लिम भाइयों के साथ सद्भाव में रहना चाहते हैं।”

केंद्रीय धार्मिक मंत्रालय ने मामले को लेकर एक इमरजेंसी नोटिस जारी कर जनता से कानून अपने हाथ में नहीं लेने की अपील की गई है। प्रशासन ने आम लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। अधिकारियों ने कहा है कि अपराधियों को नहीं बक्शा जाएगा। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अधिकारियों को अपराधियों को जल्द से जल्द पकड़ने के आदेश दिए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, स्थिति हाथ से बाहर जाते देख बांग्लादेश सरकार ने देश की पुलिस रैपिड एक्शन बटालियन (RAB) की एंटी टेररिजम यूनिट और अर्द्धसैनिक बल यानी बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (BGB) को तैनात किया गया है।

आपका साथ – इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!