ताज़ा खबर :
prev next

राजस्थान में उपचुनावों में बीजेपी को लगा बड़ा झटका, किसी बूथ पर मिले 1-2 वोट तो कहीं हाथ आई सिर्फ सिफर

जयपुर | राजस्थान में हुए उपचुनावों के नतीजे भारतीय जनता पार्टी के लिए बहुत ही बुरी खबर लेकर हाए हैं। इन उप चुनावों के नतीजों के पोस्टमार्टम से पता चला है कि कई ऐसे बूथ थे जहां पर बीजेपी उम्मीदवार को मात्र एक या दो वोट ही मिले। यहीं नहीं कुछ बूथ तो ऐसे थे जहां पर बीजेपी को एक भी वोट नहीं मिला है। जिस पार्टी की सरकार प्रचंड बहुमत से दिल्ली में और राजस्थान में राज कर रही है, उसी के पार्टी के कैंडिडेट के कुल जमा खाते में 1, 2 या 0 वोट एक बेहद गंभीर खतरे का संकेत हैं। न्यूज 18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक अजमेर के नसीराबाद विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 223 में बीजेपी को मात्र एक वोट मिला, जबकि यहां कांग्रेस को 582 वोट मिले। बूथ नंबर 224 में बीजेपी को 2 वोट मिले जबकि कांग्रेस यहां 500 वोट हासिल करने में कामयाब रही। दुधू विधानसभा के बूथ नंबर 49 का नतीजा तो बीजेपी के लिए हैरान करने वाला था। यहां पर बीजेपी को एक भी वोट नहीं मिले, जबकि कांग्रेस 337 वोट मिले। इसका मतलब ये है कि यदि बीजेपी ने यहां अपने बूथे एजेंट नियुक्त किये थे तो उन्होंने भी पार्टी को वोट नहीं दिया।
बीजेपी का कहना है कि शहरी वोटों में बिखराव पार्टी के लिए चिंता की बात है। हार का अंतर भी बीजेपी के लिए चिंता का सबब है। 2014 में बीजेपी ने अलवर सीट 2.5 वोटों से जीती थी, लेकिन इस बार पार्टी को लगभग 2 लाख वोटों से हार का सामना करना पड़ा। यानी की पार्टी को लगभग साढ़े चार लाख वोटों का नुकसान हुआ। राजस्थान में लोकसभा की 25 सीटें हैं। यहां पर ट्रेंड रहा है कि जो पार्टी विधानसभा चुनाव जीतती हैं, लोकसभा में भी उसी पार्टी के हिस्से ज्यादातर सीटें आती हैं। निश्चित रूप से वोटिंग का ये ट्रेंड और पैटर्न पार्टी के लिए भारी चिंता की बात बन गई है।


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।