ताज़ा खबर :
prev next

जानिये इस बार क्यूँ मनाई जा रही दो दिन की शिवरात्रि

गाज़ियाबाद। हालाकि इस वर्ष महाशिवरात्रि व्रत की तिथि को लेकर कुछ विवाद हो रहा है। कुछ पंडितगण मंगलवार को तो कुछ बुधवार को महाशिवरात्रि व्रत करने की बात कह रहे हैं। भगवान शिव की आराधना को समर्पित महाशिवरात्रि 13 फरवरी को मनाई जाएगी। इस साल कुछ ज्योतिषियों के मत के चलते महाशिवरात्रि की तिथि को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है।
हिंदू पंचांग के मुताबिक, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान शंकर एवं माता पार्वती का विवाह संपन्न हुआ था और इसी दिन प्रथम शिवलिंग का प्राकट्य हुआ था। शैव धर्म परंपरा की एक पौराणिक के कथा अनुसार, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी की रात को भगवान शिव ने संरक्षण और विनाश के स्वर्गीय नृत्य का सृजन किया था।
सूत्रों के मुताबिक 13 फरवरी यानी मंगलवार की रात 10.30 बजे चतुर्दशी लग रही है। यह तिथि 14 फरवरी को रात्रि 12.47 बजे तक रहेगी। मंगलवार को त्रयोदशी युक्त चतुर्दशी है, इसलिए महाशिवरात्रि का पर्व इसी दिन मनाया जाएगा। इस दिन भक्तों को व्रत रहकर शिवजी का पूजन अभिषेक करना चाहिए।

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।