ताज़ा खबर :
prev next

शर्मनाक: चलती ट्रेन में छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म, नहीं थे टीटीई और पुलिस

रांची।  झारखंड स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस में दिल्ली से रांची आ रही 19 साल की युवती से दो युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। घटना के दो दिन बाद आठ फरवरी को युवती ने जहर खाकर जान देने की कोशिश की। उसका गुरुनानक अस्पताल में इलाज चल रहा है। पंजाब के फाजिल्का निवासी युवती रांची में निजी संस्थान में पढ़ती है। शुक्रवार को जीआरपी थाने में इस संबंध में केस दर्ज किया गया है।रेल एसपी संगीता कुमारी शुक्रवार को अस्पताल पहुंची। युवती से मामले की पूरी जानकारी ली। उन्होंने बताया कि मामला गंभीर है। जांच के लिए स्पेशल टास्क फोर्स का गठन किया गया है। सीआईडी भी मामले की जांच कर रही है।

युवती ने चुटिया पुलिस को बताया कि छह फरवरी को वह आनंद विहार से रांची आ रही थी। उसे एस-3 बोगी में 17 नंबर बर्थ मिली थी। मूरी स्टेशन से चलने के बाद रात करीब 12 बजे दो युवक आए। मुंह पर गमछा रखकर दोनों ने दुष्कर्म किया। रांची से पहले किसी स्टेशन पर दोनों ट्रेन से उतरकर भाग निकले। उसने कहा कि कोच में काफी कम यात्री थे। बर्थ के पास अंधेरा था। कोच में न तो पुलिस थी और न ही टीटीई। रांची स्टेशन पर हॉस्टल के वार्डन ने उसे रिसीव किया। पर शर्म से उसने किसी को कुछ नहीं बताया। इस बयान को चुटिया पुलिस ने जीआरपी थाने को भेज दिया।

चुटिया पुलिस के मुताबिक यह आत्महत्या के प्रयास का मामला था। गुरुवार शाम तीन बजे पुलिस अस्पताल में लड़की का बयान ले रही थी। इसी दौरान उसने दुष्कर्म की जानकारी दी। इसके बाद मामले को जीआरपी थाना भेज दिया गया। वहीं लड़की ने बताया कि उसने इस घटना की जानकारी किसी को नहीं दी थी। वह मरना चाहती थी। उसके पिता और भाई 10 फरवरी को उससे मिलने अस्पताल आए थे, लेकिन उन्हें भी दुष्कर्म की बात नहीं बताई। दोनों उससे मिलकर वापस चले गए।

रेल डीएसपी क्रिस्टोफर केरकेट्टा के मुताबिक युवती ने कहा है कि वह घटना के बाद दो दिन तक बदहवास रही। उसे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करना चाहिए। आक्रोश, निराशा और शर्म के कारण उसने आठ फरवरी को शाम छह बजे हॉस्टल में कीटनाशक खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। हॉस्टल की सिस्टर ने उसे गुरुनानक अस्पताल में भर्ती कराया। अभी वह ठीक से बोल भी नहीं पा रही है। डीएसपी ने कहा कि बयान की जांच की जा रही है। स्लीपर क्लास का रिजर्वेशन चार्ट निकलवाया जा रहा है।

 

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।