ताज़ा खबर :
prev next

नौकरी दिलाने के नाम पर दो सगे भाइयों से पांच लाख की ठगी

गाजियाबाद। हाई कोर्ट में नौकरी दिलाने के नाम पर दो सगे भाइयों से पांच लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया है। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दो युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

मोदीनगर के गांव सारा में मोहम्मद इरफान परिवार के साथ रहते हैं। उनके दो पुत्र कासिम अली व आसिफ अली नौकरी की तलाश कर रहे हैं। मोहम्मद इरफान ने बताया कि 10 अगस्त 2014 को मुरादाबाद निवासी उनका रिश्तेदार शमीम अहमद उनके घर आया और उसने इलाहाबाद हाई कोर्ट में तैनात एक अधिकारी से अपनी जान पहचान बताते हुए कासिम अली व आसिफ अली की हाई कोर्ट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नौकरी लगवाने की बात कही।

नौकरी लगवाने के लिए शमीम अहमद ने दस लाख रुपये खर्च होने की बात बताई। विश्वास दिलाने के लिए शमीम अहमद ने हाई कोर्ट में तैनात अपनी पहचान वाले कथित अधिकारी रविन्द्र नाम के युवक से मोहम्मद इरफान की फोन पर भी बात कराई। जिसके बाद सौदा तय हो जाने पर मोहम्मद इरफान ने शमीम अहमद के कहने पर रविन्द्र के खाते में पांच लाख रूपये जमा करा दिए और बाकि रकम काम हो जाने के बाद देना तय हुआ।

काफी समय बीत जाने पर भी जब नौकरी नहीं लगी तो मोहम्मद इरफान ने शमीम अहमद से बात की। लेकिन उसने दो माह के अंदर काम हो जाने की बात कहकर उन्हें टाल दिया। दो माह बीत जाने पर भी जब काम नहीं हुआ तो इरफान ने शमीम अहमद से पैसे लौटाने के लिए कहा। लेकिन उसने पैसे लौटाने से इंकार कर दिया। इतना ही नहीं दोबारा पैसों का तगादा करने पर आरोपितों ने उसे जान से मारने की धमकी दी।

पीड़ित ने इस संबंध में थाने में तहरीर दी, लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न करने पर उसने कोर्ट की शरण ली और कार्रवाई की मांग की। न्यायालय ने पुलिस को इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिए हैं। एसएचओ ने बताया कि पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।