ताज़ा खबर :
prev next

स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 – लखनऊ से गाज़ियाबाद पहुंची अधिकारियों की टीम, सफाई की होगी समीक्षा

गाज़ियाबाद | आज स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 की रैकिंग के लिए केंद्र सरकार की एक टीम गाजियाबाद का निरीक्षण करेगी। इससे पहले लखनऊ के अधिकारियों ने गाजियाबाद में डेरा डाल दिया है। साफ-सफाई को लेकर पूरे शहर का निरीक्षण किया जा रहा है। शौचालय से लेकर सड़क और नालों की सफाई युद्धस्तर पर जारी है।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 के तहत जनवरी में देश के विभिन्न शहरों के निरीक्षण की शुरुआत की गई थी। इस सर्वेक्षण को लेकर गाजियाबाद नगर निगम पिछले कई माह से तैयारी में जुटी है। अब केंद्र सरकार की टीम सोमवार से शहर की रैंकिंग जानने के लिए निरीक्षण करेंगी। टीम शहर की साफ सफाई के साथ निगम की ओर से स्वच्छता के लिए उठाए गए कदम और मैनेजमेंट का भी आकलन करेगी। इस सर्वे को लेकर पिछले दो दिनों से लखनऊ के कई अधिकारी भी गाजियाबाद में हैं। वह खुद स्थानीय अधिकारियों के साथ मौके पर निरीक्षण कर रहे हैं।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 योजना के तहत शहर की प्रमुख सड़कों की हालत सुधरी है। जिन सड़कों के डिवाइडर लंबे समय से टूटे थे, वह अब दुरुस्त हो गए हैं। इतना ही नहीं इनको पेंट करके खुबसूरत बना दिया गया है। शहर की सड़कों के किनारे बने कूड़ाघरों को विलोपित कर दिया गया है। शहर में बड़ी संख्या में शौचालय व यूरिनल बनवाए गए हैं।

नगरायुक्त सीपी सिंह ने बताया कि नगर निगम की ओर से शहर में गंदगी फैलाने वालों पर जुर्माना भी किया जा रहा है। पिछले एक माह में निगम के अधिकारी 10 लाख रुपये से अधिक का जुर्माना कर चुके हैं। इसमें बड़ी संख्या में ऐसे संस्थान हैं जो सरकारी इमारतों पर या रास्ते में कहीं भी अपनी कंपनी का विज्ञापन करने के लिए पोस्टर व स्टीकर चस्पा कर देते हैं। शहर को साफ सुथरा बनाने का प्रयास किया जा रहा है। स्वच्छ सर्वेक्षण की रैंक में शहर में सबसे ऊपर लाने का सपना है। यह प्रयास आगे भी जारी रहेगा।


आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।