ताज़ा खबर :
prev next

जानिये, ऊर्जा के महत्त्व व संरक्षण के उपाय

नई दिल्ली। ऊर्जा के बिना किसी देश के आर्थिक विकास और उसकी उन्नति की कल्पना नहीं की जा सकती। जीवन के हर क्षेत्र में ऊर्जा की जरूरत होती है। खाना बनानेकारखाना चलानेघर को कूल रखनेगाड़ियां चलानेघर और बरतन साफ रकने के लिए हमें ऊर्जा की जरूरत होती है।

आज के इस इलेक्ट्रॉनिक और अंतरिक्ष युग में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में बहुत तेजी से प्रगति हो रही है। उघोगों का भी तेजी से विस्तार हो रहा हैकारखानों और मिलों को चलाने के लिए ऊर्जा उपलब्ध न हो तो औद्योगिक विकास ठप्प हो जायेगा। इस प्रकार ऊर्जा का उत्पादन और उसकी उपलब्धता सभी देशों की प्रमुख समस्या है। इस समस्या से बचने के लिए व ऊर्जा की कम खपत के लिए या बचाने के लिए हम ऊर्जा के नए सोर्स की खोज और ऊर्जा संरक्षण द्वारा कर सकते है। बचाई गई ऊर्जा अर्जित ऊर्जा है

ऊर्जा के संरक्षण के लिए हम निम्न उपाय कर सकते है

विघुत- प्रयोग के बाद घरेलू उपकरण जैसे बल्बपंखाकूलरऔर एयर कंडीशनर आदि को सर्वदा बंद करें। 2. प्रकाश क साधन जैसे बल्ब और ट्यूब आदि धुल रहित होने चाहिए। 3.दीवारों और छतों पर हल्के रंगों का प्रयोग करना चाहिए। 4. ऊर्जा क्षति को कम करने के लिए प्रयोग किये जाने वाली तारों का आकार एवं श्रेणी मानक होने चाहिए। 5. सूर्य के प्रकाश का उपयोग अधिकाधिक करना चाहिए और सजावटी प्रकाश को कम से कम प्रयोग करने चाहिए। 6.रेफ्रिजिटर को समय समय पर डिफ्रॉस्ट करते रहना चाहिए।

खाना बनाने की गैस- साफ बर्नर का उपयोग करें और खाना प्रेशर की सहायता से प्रेशर कुकर में पकाएं  2. केटली तथा बर्तनों को पानी उबलने के लिए आवश्यकता से अधिक काम में न लाएं। 3. खाना पकाना शुरू करने से पहले हर एक चीज तैयार रखें और खाना पकाना शुरू करने से पहले पदार्थ को पानी में भिगो लें। 4. चौड़े तथा कम गहरे बर्तन काम में लाएँ और गर्म करते समय बर्तनों पर ढक्क्न रखें। 5. फिर से जलाने की बचत के लिए गैस को चालू न रखें और बर्तन के अन्दर की वस्तु उबलते ही ताप को कम कर दें। 6. जब गहरे ताप की आवश्यकता होती हो तो केवल बड़े बर्नर को काम में लायें छोटे बर्नर को ज्यादा काम में लायें।

वाहनों में ऊर्जा संरक्षण

 तेल में बचत के लिहाज से वाहन की गति 40-60 KM प्रति घंटा हो। तेज गति से वाहन चलाने पर तेल हवा के अधिक प्रतिरोध के कारण तेल खपत अधिक होती है।  प्रयोगों से पता चलता है की 40KM प्रति घंटा की चाल से चलने पर 40% तेल की बचत होती है।

वाहन की गति को बार बार बढ़ानेघटानेतथा ब्रेक लगने से इंजन में तेल की शक्ति का विनाश होता है जिससे तेल की खपत होती हैअतवाहन को एक ही गति से चलना चाहिए।

उचित चाल से गियर परिवर्तन से 20% तक तेल की बचत की जा सकती है। गियर बदलते समय ही क्लच का प्रयोग करना चाहिए,  क्योंकि बारबार गियर बदलने से तेल की खपत बढ़ जाती हैतथा क्लच प्लेट भी जल्दी ख़राब हो जाती है।

वाहन को एक मिनट से अधिक अंतराल में रुकाव पर बंद कर देना चाहिएक्योंकि खड़े वाहन को स्टार्ट रखने से तेल व्यर्थ में फूँकता है।

गंतव्य स्थान पर पहुँचने के लिए छोटे से छोटे तथा कम से कम भीड़ वाला रास्ता छाँटना अत्यधिक लाभप्रद होता हैक्योंकि भीड़ भाड़ वाली सड़को पर साधरण सड़क से दो गुना तेल खर्च हो सकता है।

औद्योगिक प्रकाश में ऊर्जा संरक्षण-

औद्योगिक प्रकाश में ऊर्जा के संरक्षण व बचत के लिए निम्नलिखित उपायों की सिफारिश की जाती है:

अधिक कुशल आधुनिक प्रकाशों का उपयोग करें उदाहरण के लिए एक 80 वाट हाई प्रेशर मर्करी वेपर लैंप उसी स्तर की रौशनी देता है जितनी एक 200 वाट टंग्स्टन लैंप।

रौशनी नियत्रकों को सुधारने या दुबारा से प्रकाश की व्यवस्था करें ताकि आवश्यक स्तर पर प्रकाशफिजूल खर्च को रोकते हुए मिल सके।

जब कभी प्राकृतिक रोशनी पर्याप्त होफोटो सेल स्विच को स्थापित करें ताकि रौशनी को निकाला जा सके।

सभी प्रकाश प्रतिबिंबित करने वाले धरातल तथा ढकने वाले माध्यमों को साफ रखें।

दरवाजे के रास्ते में अथवा पैनल बोर्ड के नजदीक स्थापित स्विच का प्रयोग करें।

वातानुकूलित सिस्टम में ऊर्जा संरक्षण के उपाय-

ऊर्जा के नुकसान को बचने के लिए निम्न सुझाव दिए गए है:-

वातानुकूलित स्थान न्यूनतम होना चाहिए।

दरवाजे खुले न रखे स्वचालित बंद होने वाले दरवाजे का प्रयोग करें।

जहाँ सम्भव हो वहाँ पानी छिड़करछत को ठण्डी करने की विधि को काम में लायें।

वातानुकूलित इमारत में कम से कम खिड़की होउन खिड़कियों में कांच की मोटी चादरें लगाएं।

भीतरी छत की लम्बाई मीटर रखनी चहिए यदि आवश्यक हो तो एक नकली छत लगाई जा सकती है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।