ताज़ा खबर :
prev next

खूनी नाले ने एक और बच्चे की ली जान

गाज़ियाबाद। नगर कोतवाली क्षेत्र की अमन कालोनी में मंगलवार को एक बच्चे की नाले में गिरने से मौत हो गई। तीन दिन में एक ही नाले में गिरने से दो बच्चों की मौत के बाद लोगों में रोष है। जिला एमएमजी अस्पताल में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। वहीं सूचना पर पुलिस, प्रशासन और निगम अधिकारियों के हाथ पैर फूल गए। बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे स्थानीय लोगों के साथ ही तीन थानों की फोर्स के साथ सीओ प्रथम मनीषा सिंह और सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप कुमार दुबे अस्पताल पहुंचे और लोगों को नाले पर बाउंड्री वाल कराने और जाली लगाने का आश्वासन दिया। इसके बाद ही लोगों ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए जाने दिया। रविवार को भी गुलजार कॉलोनी निवासी राशिद के पांच वर्षीय पुत्र आहिल की भी इसी नाले में गिरकर मौत हो गई थी। लोगों ने जीटी रोड पर हंगामा कर कई घंटे तक जाम लगाया था।

अमन कालोनी में हफीज अब्बासी के मकान में किराये पर रहने वाले कय्यूम फेरी लगा पुराने कपड़े की खरीद-फरोख्त करते हैं। परिवार पत्नी रूबीना, तीन बेटी व दो बेटे हैं। चार वर्षीय अयान और साढ़े पांच वर्षीय रिहान घर के बाहर खेल रहे थे। इसी दौरान कालोनी के बाहर से गुजर रहे करीब सात फीट गहरे निगम के नाले के पास पहुंच गए। करीब सवा 12 बजे अयान नाले में गिर गया और उसकी चप्पलें तैरने लगीं। रिहान बोल नहीं सकता है, जिसके चलते वह घर गया और इशारे करने लगा। रूबीना ने अयान के बारे में पूछा, लेकिन वह नहीं बता पाया। आसपास के लोग भी इकट्ठा हो गए। करीब एक बजे नाले में चप्पल तैरती दिखने पर रूबीना रोने लगी। फल की दुकान करने वाले शाहरुख और उनके मामा इकबाल तुरंत नाले में कूद गए। करीब 10 मिनट बाद 20 फीट दूरी पर नाले में पड़ी कूलर की बॉडी से अयान मिल गया। तुरंत उसे एमएमजी अस्पताल ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कय्यूम के पास अपना मोबाइल भी नहीं है, इसीलिए अयान के लापता होने के बाद भी उन्हें सूचना नहीं दी जा सकी। नाले में से अयान की बॉडी निकालने के बाद हफीज अब्बासी ने अपने बेटे को मुरादनगर कय्यूम की तलाश में भेजा। पत्नी ने बताया कि वह आज मुरादनगर जाने को कह रहे थे। शाम करीब चार बजे कय्यूम पहुंचे। वहीं घटना के बाद से ही रूबीना अपने आप को ही कोस रही हैं।

तीसरे दिन ही एक और बच्चे की उसी नाले में गिरकर मौत के मामले में पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। एमएमजी अस्पताल में बढ़ती भीड़ देख नगर कोतवाल जयकरण ¨सह, विजयनगर एसएचओ नरेश कुमार सिंह और सिहानी गेट थाने के एसएसआइ राजेंद्र खोड़ा फोर्स के साथ अस्पताल पहुंच गए। सीओ व सिटी मजिस्ट्रेट भी अस्पताल पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास करने लगे। बच्चे की नाले में गिरकर मौत की खबर सुनते ही पार्षद जाकिर अली सैफी, आरिफ मलिक, मरगूब अहमद समेत कई लोग भी अस्पताल पहुंच गए। घटना के बाद अधिकारी लगातार पार्षदों से सहयोग करने और नाले पर तुरंत जाली लगवाने और बाउंड्री वॉल का आश्वासन देने लगे। किसी तरह लोग शांत हुए तो सिटी मजिस्ट्रेट तुरंत नगर आयुक्त के पास पहुंचे। वहीं अमन कालोनी में भी पुलिस की पांच गाड़ियां घटना के बाद से ही तैनात रहीं।

सीओ प्रथम ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मृतक बच्चे के परिजन फिलहाल गमजदा हैं, जिसके चलते कोई शिकायत नहीं मिली है। उनका कहना है कि यदि कय्यूम की ओर से शिकायत मिलती है तो मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।