ताज़ा खबर :
prev next

दिल्ली बंद से लगी ₹ 1,800 करोड़ की चपत, सीलिंग का विरोध कर रहे हैं व्यापारी

नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट के आदेशों से हो रही सीलिंग के विरोध में मंगलवार को दिल्ली के अहम बाजारों में ज्यादातर दुकानें बंद रही है। एक अनुमान के मुताबिक दिल्ली में करीब 1,800 करोड़ रुपये का कारोबार प्रभावित हुआ। दिल्ली सरकार का कहना है कि सीलिंग के विरोध में इस पर रोक लगाने के लिए विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को मंजूरी के लिए भेजेगी। इस मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि बैठक में कांग्रेस प्रतिनिधियों ने सीलिंग के विरोध में संसद में आवाज उठाने और सीलिंग रुकवाने के लिए हर प्रयास करने का भरोसा दिया। सरकार उनके अच्छे सुझावों पर अमल करेगी। बैठक में भाजपा शामिल नहीं हुई। सरकार 351 सड़कों का व्यावसायिक उपयोग अधिसूचित करने के लिए अगले सप्ताह उच्चतम न्यायालय से मंजूरी लेने के लिए अपना पक्ष रखेगी। सरकार सभी दलों को साथ लेकर निगरानी समिति से सीलिंग रुकवाने के लिए भी मिलेगी।

पंचायत में दिल्ली सरकार से विधानसभा सत्र में सीलिंग पर रोक का बिल पारित कर केंद्र को मंजूरी के लिए भेजने और केंद्र सरकार से संसद के चालू सत्र सीलिंग रोकने के लिए एक मोरेटोरियम बिल लाने का प्रस्ताव पारित किया गया। चैंबर ऑफ ट्रेड ऐंड इंडस्ट्री के संयोजक बृजेश गोयल ने दावा किया सीलिंग के विरोध में बाजारों में आठ लाख दुकानें और 28 औद्योगिक क्षेत्रों में 1.5 लाख फैक्ट्रियां भी बंद रही। 100 से अधिक बाजारों में सीलिंग की शवयात्रा निकाली गई और बुधवार को लाजपत नगर में बड़ी शवयात्रा निकाली जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, बंद के दौरान चांदनी चौक व अन्य पुरानी दिल्ली के बाजारों में दोपहर देर बाद कुछ कुछ दुकानें खुलने लगी।

क्या आपका जल्दी पहुँचना इतना जरूरी है? जरा सोचिए !

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel