ताज़ा खबर :
prev next

किराये के फ्लैट में शराब बनाने वाली फैक्ट्री का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार

गाज़ियाबाद। कोतवाली पुलिस ने डीएलएफ कॉलोनी के गोकलपुर धाम इलाके में संचालित शराब बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है। पुलिस टीम ने तीन शराब तस्करों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि फैक्ट्री मालिक भाग निकला। फैक्ट्री में 72 पेटी अंग्रेजी और देशी शराब, 20 लीटर शराब बनाने का केमिकल, एक ऑटो बरामद हुआ है।

पुलिस टीम डीएलएफ में जिंदल रोड स्थित अम्बा चौक पर वाहनों की चेकिंग कर रही थी, तभी एक संदिग्ध ऑटो को देखकर उसे रुकने का इशारा किया गया। ऑटो चालक ने यूटर्न लेकर भागने का प्रयास किया। पुलिस टीम ने पीछा कर कुछ दूरी पर ऑटो चालक को दबोच लिया। तलाशी के दौरान ऑटो से पांच पेटी अंग्रेजी और देशी शराब बरामद हुई।

पूछताछ में ऑटो सवार युवकों ने अपना नाम फुरकान निवासी अल्वी नगर और कमल निवासी पुरैनी दातागंज जिला बदायूं बताया। उन्होंने बताया कि वह डीएलएफ कॉलोनी स्थित गोकलपुर धाम से शराब लेकर जा रहे हैं। फैक्ट्री मालिक रवि के साथी मुकेश ने उन्हें शराब बेचने भेजा है। पुलिस उन्हें लेकर गोकलपुर धाम स्थित फ्लैट पर पहुंची, जहां पुलिस ने मुकेश को गिरफ्तार कर लिया। जबकि रवि भागने में कामयाब हो गया। किराए पर लिया था फ्लैट

आरोपित मुकेश ने बताया कि शराब बनाने के लिए फ्लैट किराए पर लिए थे। यहां शराब बनाकर वह लोनी की कच्ची कॉलोनियों में सप्लाई करते थे। पुलिस टीम ने मौके से 30 पेटी रसीला संतरा, सात पेटी पार्टी स्पेशल, 38 पेटी केजी रोमिया विस्की, 20 लीटर शराब बनाने का केमिकल और 13 बोरे शराब भरने के खाली पव्वे बरामद किए। पुलिस तीनों तस्करों को जेल भेजने के बाद फरार रवि की तलाश में जुट गई है।

पुलिस के मुताबिक, रवि शराब माफिया है। उसकी शराब बनाने की फैक्ट्री में करीब एक साल पहले भी छापेमारी हो चुकी है। पुलिस को आशंका है कि शहर में ऐसे कई शराब माफिया हैं, जो हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के ब्रांड की शराब को बनाकर शहर में बेच रहे हैं। मात्रा का अनुपात सही न होने पर शराब जहरीली बन जाती है, जिससे लोगों की मौत हो सकती है। सीओ का कहना है कि अन्य शराब माफियाओं की तलाश की जा रही है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।