ताज़ा खबर :
prev next

बंद घर में घंटो तक फंसी रही महिला और बच्चा, पड़ोसियों की मदद से बची जान

गाज़ियाबाद। साहिबाबाद थाना क्षेत्र के श्यामपार्क एक्सटेंशन में शुक्रवार दोपहर एक बंद फ्लैट में डेढ़ साल का बच्चा मृणांक और उसकी नानी फंसे रहे। नानी जहां बाथरूम में फंसी रहीं, वहीं घर में किसी को न पाकर बच्चा लगातार रोता रहा। बंद घर में बच्चे के रोने की आवाज सुनकर पड़ोसियों ने दमकल विभाग को इसकी सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची दमकल की टीम ने करीब 50 मिनट के बाद नानी और बच्चे को रेस्क्यू कर सुरक्षित बाहर निकाला।

एफएसओ साहिबाबाद दमकल अबुल अब्बास हुसैन ने बताया कि श्यामपार्क एक्सटेंशन डी-154 फ्लैट में विशाल राय परिवार के साथ रहते हैं। उनके घर में उनकी पत्नी और डेढ़ साल का मृणांक और उसकी नानी रहते हैं। शुक्रवार को दोनों पति-पत्नी किसी काम से बाहर गए हुए थे। इस दौरान वे फ्लैट के मेन गेट पर ताला लगा गए। घर में बच्चा अपनी नानी के साथ खेलने में मस्त था। दोपहर करीब 2:45 बजे नानी मृणांक को छोड़कर बाथरूम चली गईं। इस दौरान बाथरूम का दरवाजा अंदर से लॉक हो गया। काफी कोशिशों के बाद भी जब नानी दरवाजा खोल नहीं पाईं तो वह परेशान हो गई। नानी के अचानक गायब हो जाने से मृणांक भी परेशान हो गया। खुद को अकेला पाकर वह जोर-जोर से रोने लगा। उसकी नानी अंदर से आवाज लगाकर उसे शांत करने का प्रयास करने लगीं, लेकिन मृणांक और जोर जोर से रोने लगा। काफी देर से बच्चे के रोने के आवाज सुन कर आसपास के लोग फ्लैट के पास पहुंचे। उन्होंने देखा कि फ्लैट के दरवाजे पर ताला लगा है और अंदर बच्चा रो रहा है। इसके बाद उन्होंने दमकल विभाग को इसकी सूचना दी। सूचना पर पहुंची दमकल की टीम सीढ़ी की मदद से फ्लैट की बालकनी पर पहुंची और वहां का दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुई। इसके बाद बाथरूम में बंद नानी को बाहर निकाला। इसके बाद मृणांक शांत हुआ।

रेस्क्यू टीम में शामिल योगेंद्र ने बताया कि टीम ने करीब 50 मिनट की मेहनत के बाद बच्चे और उसकी नानी को रेस्क्यू कर बाहर निकाला। फ्लैट के अंदर जाने पर पता चला कि बच्चे की नानी बाथरूम में फंसी थी। मृणांक और उसकी नानी दोनों की हालत सामान्य है। आसपास के लोगों की मदद से टीम ने रेस्क्यू पूरा किया।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।