ताज़ा खबर :
prev next

2022 तक पटरी पर दौड़ेगी बुलेट ट्रेन, पुलों व सुरंगों की डिजाइनिंग का 80 प्रतिशत काम पूरा

शिमला। अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने वाली देश की पहली हाई स्पीड बुलेट ट्रेन के लिए पुलों और टनलों का  डिजाइन से संबधित कार्य तेजी से चल रहा है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण के लिए प्रक्रिया जारी है।

प्रोजेक्ट के कामकाज का जिम्मा नैशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन (एन.एच.एस.आर.सी.) के पास है। कंपनी के प्रबंध निदेशक अचल खरे के मुताबिक, हाई स्पीड कॉरिडोर के ब्रिज और टनल के डिजाइन का काम 80 प्रतिशत पूरा हो चुका है। बता दें कि पिछले साल नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अाबे ने इस प्रोजेक्ट की नींव रखी थी। 2022 तक इसके पूरा होने की उम्मीद है।

500 किलोमीटर की दूरी को 3 घंटे में
हाई स्पीड से चलने वाली यह ट्रेन दोनों शहरों की 500 किलोमीटर की दूरी को 3 घंटे से कम समय में पूरा करेगी, जिसके लिए अभी 7 घंटे लगते हैं। यह ट्रेन 12 स्टेशनों पर रुकेगी, जिसमें से 4 महाराष्ट्र में है।

खरे ने कहा कि महाराष्ट्र और गुजरात में जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। बुलेट ट्रेन का रूट महाराष्ट्र के 108 गांवों से गुजरेगा। अधिग्रहण के लिए पालघर जिले के 17 गांव के किसानों को नोटिस दिया है। उन्हें मौजूदा मार्केट रेट के मुताबिक मुआवजा दिया जाएगा। इसके लिए 10 हजार करोड़ का प्रावधान है।

भूकंप और हवा की गति जानने के लिए मीटर लगेंगे
खरे ने कहा कि पूरी परियोजना अग्नि और भूंकपरोधी होगी। भूंकप संवेदनशील क्षेत्रों में सिस्मोमीटर (भूकंपमाफी) और हवा मापने वाली प्रणाली लगाई जाएगी। ट्रेन की गति हवा के वेग पर निर्भर करेगी और यदि हवा का बहाव 30 मीटर प्रति सेकेंड होगा तो ट्रेन का परिचालन बंद हो जाएगा।

320 Kmph होगी बुलेट ट्रेन की स्पीड
अधिकारी ने कहा कि ट्रेन 320 सैकेंड में 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेगी और इस समय तक यह 18 किलोमीटर की दूरी तय कर चुकी होगी। व्यस्त घंटों में 3 ट्रेन और कम व्यस्त घंटों में 2 ट्रेन चलाने की योजना होगी। उन्होंने कहा, “हम 2 तरह का ट्रेन परिचालन करेंगे। कुछ ट्रेनें सीमित स्टेशन पर रूकेंगी जबकि कुछ ट्रेनें मुंबई और साबरमती के बीच सभी स्टेशनों पर रूकेंगी। हमारे अनुमान के मुताबिक एक दिन में कुल 70 फेरे (एक ओर से 35 फेरे) लगेंगे और प्रति दिन 40,000 यात्री यात्रा करेंगे।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।