ताज़ा खबर :
prev next

ईमानदारी की मिसाल- सफाईकर्मी ने लौटा दिए कचरे में पड़े मिले 1 लाख रुपये

तेलंगाना। आज जहाँ भ्रष्टाचार और बेईमानी ने अपने पाँव पसर रखे हैं वहीं कुछ लोग ऐसे हैं जिन्होंने इमानदारी को आज भी जिंदा रखा हुआ है। लेकिन आज भी कुछ ऐसे लोग हैं, जिनकी वजह से ईमानदारी पर लोगों का भरोसा आज भी कायम है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है हैदराबाद से, जहां एक सफ़ाई कर्मचारी ने कूड़े में मिले 1 लाख रुपये वापस लौटाकर ईमानदारी मिसाल कायम की है। मामला तेलंगाना का है जहाँ मड्डेला लक्ष्मी, मेटापल्ली के बाजार में सफाई का काम करती हैं। रोज़ सुबह और रात उनकी कचरा साफ़ करने की ड्यूटी होती है। आज से कुछ दिन पहले भी रोज़ की तरह लक्ष्मी अपने काम पर लगीं थीं। तभी उन्हें सफाई के दौरान डस्टबिन में एक लिफाफा दिखा। उन्होंने उस लिफाफे को निकल कर देखा तो उसमें उन्हें ढेर सारे रुपये मिले। अचानक इतने सारे रुपये देख कर लक्ष्मी को समझ नहीं आया कि वो क्या करें, इसलिए उन्होंने वो पैसे अपने पास रख लिए और घर लेकर चली गईं।

सुबह वह उन्हीं पैसों के साथ काम पर आयीं। वापस आने पर उन्होंने देखा कि एक शख्स बहुत परेशान था और कचरे के डिब्बे में कुछ ढूंढ रहा था। लक्ष्मी ने उस शख्स से पुछा कि वह क्या तलाश रहा है तो उस शक्स ने बताया की उसके पैसे खो गए हैं। दरअसल, उस शख्स का नाम जावेद था और वह एक चिकेन शॉप का मालिक था। जावेद के अनुसार वह रात को दुकान बंद कर रहा था और उसके पास दो लिफाफे थे। एक में उसने एक लाख रुपये और दुसरे में कुछ रद्दी सामान रखा हुआ था। घर जाते वक्त उसने वो रद्दी कूड़े में फेंकने के बजाए अपने एक लाख रुपये वाला लिफाफा कूड़े में फेंक दिया। सुबह जब जावेद ने लिफाफा खोला तो वह दंग रह गया और उसे ज्ञात हुआ कि उसने गलती से पैसों वाला लिफाफा डस्टबिन में फेंक दिया है।

थोड़ी जांच-पड़ताल करने पर पता चला कि जावेद उसी पैकेट को तलाश रहा था। इसके बाद लक्ष्मी ने उसे पूरे पैसे वापिस कर दिये। वहीं जावेद ने उनकी ईमानदारी की दाद देते हुये इनाम स्वरूप 5000 हज़ार रुपये भी दिये।

आज लक्ष्मी की प्रसंशा पूरे शहर में हो रही है, लोग उनकी ईमानदारी की मिसालें दे रहे हैं। हमारे समाज को लक्ष्मी जैसे और लोगों की ज़रूरत है ताकि लोगों का मानवता पर विश्वास बना रहे। उम्मीद है हमारा समाज लक्ष्मी से सबक लेगा और उनसे कुछ सीखेगा।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।