ताज़ा खबर :
prev next

CBSE पेपर लीक के मामले में 3 गिरफ्तार, 9 नाबालिग हिरासत में

नई दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) पेपर लीक मामले में गिरफ्तारियों का दौर शुरू हो गया है। पेपर लीक के तार झारखंड और पटना से पहले ही जुड़ चुके थे। अब झारखंड पुलिस ने शनिवार को 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया और बाकियों को हिरासत में रखकर उनसे पूछताछ कर रही है। खबरों के मुताबिक, इनमें से कुछ नाबालिग छात्र भी हैं। इस बारे में बात करते हुए झारखंड (चतरा) के पुलिस सुपरिंटेंडेंट ने बताया, ‘तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, बाकी 9 नाबालिगों को जुवेनाइल एक्ट के तहत हिरासत में रखा गया है। हमारी एसआईटी जांच कर रही है।’

इससे पहले शुक्रवार को जानकारी मिली थी कि हिरासत में लिए गए लोगों में कुछ नाबालिग छात्र भी शामिल हैं। उन छात्रों पर आरोप है कि वे 28 मार्च को हुई परीक्षा के दौरान गणित के हल किए गए प्रश्नपत्र के साथ परीक्षा हॉल में बैठे थे। पुलिस का दावा है कि इन सभी छात्रों को बिहार के पटना से लीक किए गए पेपर की प्रतिलिपी दी गई थी। मुख्य सरगना की तलाश में पुलिस टीम पटना भी पहुंची है।

आपको बता दें कि सीबीएसई द्वारा आयोजित बोर्ड परीक्षा में दसवीं के गणित और 12वीं के अर्थशास्त्र विषयों के पेपर लीक हो गए थे। सीबीएसई ने दोनों पेपर्स को दोबारा करवाने का ऐलान किया है। 12 (अर्थशास्त्र) का पेपर 25 अप्रैल को होगा, वहीं दसवीं (गणित) के पेपर को दोबारा करवाने पर अभी विचार किया जा रहा है। 15 दिनों के अंदर जांच के बाद तय होगा कि गणित का पेपर फिर से करवाया जाए या नहीं। अगर गणित का पेपर दोबारा हुआ भी तो सिर्फ दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा क्षेत्र में होगा।

फिर से पेपर होने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर हो चुकी है। यह पीआईएल रीपक कंसल की ओर से वकील आशुतोष गर्ग ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की है। इसमें भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय और सीबीएसई को प्रतिवादी बनाया गया है। याचिका में कहा गया है कि जो एग्जाम हुए हैं उसी आधार पर रिजल्ट घोषित किया जाए और असल गुनाहगार का पता लगाने के लिए सीबीआई जांच कराई जाए।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।