ताज़ा खबर :
prev next

ऐक्ट्रेस ईशा गुप्ता ने उत्तर प्रदेश के दो गांव लिए गोद

नई दिल्ली। मानव कल्याण हेतु सामाजिक कार्य में जुटी बॉलीवुड अभिनेत्री ईशा गुप्ता ने अब दिशा में एक और स्तर पार कर लिया है । ईशा गुप्ता ने शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उत्तर प्रदेश जिले बिजनौर जिले के दो गांव को गोद लेने का फ़ैसला किया है । प्रतिभावान अभिनेत्री ईशा गुप्ता काफ़ी समय से लगातार ऐसे सुविधाहीन गांवों के उत्थान के लिए काम कर रही हैं। मौद्रिक चिंताओं से जूझने वाले भारतीय फुटबॉलरों की आवश्यकता पर गौर करने के बाद एक अकादमी के निर्माण की घोषणा करने के बाद, ईशा गुप्ता ने अब उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में दो गांवों की जिम्मेदारी ली है।

ईशा ने बताया, ”यह लौजिस्टिक्स इश्यू होगा, लेकिन मैं व्यक्तिगत रूप से इस पर ध्यान दूंगी । प्रत्येक व्यक्ति को शिक्षा का अधिकार है । छोटे शहरों में कई बच्चे हैं जो अध्ययन करना और सार्थक कैरियर बनाना चाहते हैं, लेकिन उनके पास आवश्यक सुविधाएं नहीं हैं । अगर मैं उनकी मदद कर सकती हूं, तो मैं खुद को भाग्यशाली मानूंगी ।”

ईशा एक दिल्ली बेस्ड एनजीओ के साथ मिलकर इस कार्य को करती है । ये प्रोजेक्ट, बुनियादी सुविधाओं के प्रावधान के लिए स्कूलों को वित्तीय सहायता प्रदान करेगा । उनकी टीम ने उन गांवों पर शून्य से मदद की जिन्हें इसकी असल में आवश्यकता थी। ईशा ने कहा, “दो गांवों में तीन स्कूल हैं जिनको हम सपोर्ट कर रहे हैं । या तो वे मुख्य रूप से आवासीय क्षेत्र से बहुत दूर हैं, या उनके पास बुनियादी सुविधाओं की कमी है । दोनों मामलों में, उन्हें अपग्रेड करने की जरूरत होती है ।”

यदि सूत्रों की मानें तो, ईशा गांवों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए पैसा भी देंगी। “एनजीओ योग्य शिक्षकों को नामांकित करेगी, जिन्हें वहां नियुक्त किया जाएगा । जहां ईशा विद्यालय के लिए प्रोजेक्टर्स जुटाएंग़ी, वहीं एनजीओ बेहतर शौचालय बनाने और एक स्थानीय पुस्तकालय खोलने के लिए धन जुटाने में मदद करेगी, जहां बच्चों का अध्ययन हो सकता है। यह प्रोजेक्ट इसी महीने से शुरू हो जाएगा । ईशा इस प्रोजेक्ट से जुड़ी बारीकी को जांचने के लिए जल्द ही बिजनौर के उन गांवों का दौरा करेंगी।

 

हमारे समाज में ऐसे कई लोग हैं जो समाज कल्याण के लिये सजग हैं। हमें भी इनसे कुछ सीखना चाहिए। शादी में दहेज़ देने या ज्यादा रुपये खर्च करके दिखावा करने से बेहतर होगा हम उन रूपयों को समाज कल्याण में लगाएं जिससे किसी का भला हो। 

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।