ताज़ा खबर :
prev next

Author: अनिल कुमार (पब्लिशर व एडिटर-इन-चीफ)

संकट में फंसी लड़की और तमाशबीन

कोई दिल से बुरा हो तो नाराज़ भी हुआ जाए पर अगर किसी की आदत उसकी मजबूरी बन चुकी हो तब क्या किया जाए? हम लोगों की कुछ आदतों की वजह से ना जाने कितने लोग परेशान होते हैं पर … Continue reading “संकट में फंसी लड़की और तमाशबीन”


जब हीरो बने मनचंदा जी

हमारी कॉलोनी में आने के कुल चार रास्ते हैं जिन पर गेट लगे हैं। इनमें से तीन गेट रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद कर दिए जाते हैं। मेरे घर के पास बने चौथे गेट पर रात … Continue reading “जब हीरो बने मनचंदा जी”


अबे रुक साले बनाम लगी तो नहीं भाई

परसों रात की बात है, मैं दिल्ली एयरपोर्ट से गाज़ियाबाद लौट रहा था। रास्ते में राव तुला मार्ग पर एक बाइक वाला हमारी गाड़ी के बराबर से आगे निकला और तुरंत आगे जा रही एक कार से टकरा गया। हालांकि … Continue reading “अबे रुक साले बनाम लगी तो नहीं भाई”


अफसर मिलनसार तो पब्लिक मददगार

मेरी तरह आप भी इस बात को मानते होंगे कि हमारे शहर के सरकारी अफसरों और पब्लिक के बीच आपसी संवाद की बेहद कमी है। संवाद के नाम पर अगर कुछ है तो वो है अफसरों द्वारा लगाए जाने वाला … Continue reading “अफसर मिलनसार तो पब्लिक मददगार”


पार्किंग अब बन चुकी है जी का जंजाल

अभी हाल ही में दिल्ली की एक पॉश कॉलोनी में पार्किंग को लेकर दो भाइयों के बीच लड़ाई इतनी बढ़ी कि परिवार के तीन लोगों की जान चली गयी। आज शहरों के भीतर सड़कों की चौड़ाई कम हो रही है … Continue reading “पार्किंग अब बन चुकी है जी का जंजाल”


कचरा समाधान महोत्सव खत्म, अब करें आगे की बात

तीन दिन चले कचरा समाधान महोत्सव में शहर के सैकड़ों बच्चों, समाज सेवियों, उद्यमी बंधुओं और प्रशासनिक अधिकारियों ने भाग लिया। जिला प्रशासन और खास तौर से हमारी कर्तव्यनिष्ठ और ईमानदार जिलाधिकारी इस सफल आयोजन के लिए बधाई और साधुवाद … Continue reading “कचरा समाधान महोत्सव खत्म, अब करें आगे की बात”


व्हाट्सएप मिसाइलों से बचो और बचाओ

आज हमारे देश में जहां एक तरफ अभिव्यक्ति की आज़ादी के नाम पर लोग देश के टुकड़े करने के नारे दे रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ सरकारें वास्तविकता समस्याओं से जनता का ध्यान हटाने के लिए सोशल मीडिया पर … Continue reading “व्हाट्सएप मिसाइलों से बचो और बचाओ”


महिला सुरक्षा के लिए कुछ हम भी करें

अभी 8 मार्च को महिला दिवस मनाया गया। हर बार की तरह इस बार भी महिलाओं की स्थिति सुधारने, छेड़छाड़ रोकने और उनका सम्मान करने के बारे में बहुत सारे लेख लिखे गए, टीवी पर चर्चाएँ हुईं और सोशल मीडिया … Continue reading “महिला सुरक्षा के लिए कुछ हम भी करें”


अथ श्री झुग्गी झोंपड़ी कथा

क्या आपको पता है कि सरकारी ज़मीनों को घेर कर बनायी गयी झुग्गियों में रहने वाले आधे से ज्यादा गरीब, किरायेदार होते हैं? क्योंकि सरकारी ज़मीनों को घेर कर झुग्गियां बनाना और उन्हें किराए पर देना भी एक बड़े मुनाफे … Continue reading “अथ श्री झुग्गी झोंपड़ी कथा”